best astrology services

Jyotish ke 9 khatarnaak yog jo barbaad kar sakte hain

Jyotish ke 9 khatarnaak yog jo barbaad kar sakte hain, 9 नुकसानदायक योग जो जीवन में संघर्ष पैदा करते हैं, जानिए कैसे बनते हैं ये योग कुंडली में | चंडाल योग, सूर्य ग्रहण योग, चन्द्र ग्रहण योग, पितृ दोष, नाग दोष, अंगारक योग, पिशाच योग, केमद्रुम योग, विष योग|

Jyotish ke 9 khatarnaak yog jo barbaad kar sakte hain
9 hanikarak yog jyotish mai

वैदिक ज्योतिष में जब कुंडली का अध्ययन होता है तो शुभ और अशुभ योगो को भी देखा जाता है | जहाँ शुभ योग जातक को बेतरीन जीवन देता है वहीँ अशुभ योगो के कारण जातक को खूब परेशानी का सामना करना पड़ता है, प्रेम जीवन में परेशानी आती है, काम काज में परेशानी आती है, परिवार के सुख में कमी आती है, आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ता है, मान सम्मान नहीं मिल पाता है, जातक डरा डरा जीने लगता है |

आइये जानते हैं वैदिक ज्योतिष के अनुसार 9 ऐसे योगो के बारे में जो जातक के जीवन में संघर्ष पैदा करते हैं :

Watch video here:

चांडाल योग :

जब गुरु के साथ राहू या केतु कुंडली के किसी भी भाव में बैठे तो चंडाल योग बनता है| ये योग जातक के लिए बहुत ही हानिकारक होता है और इसके कारण कर्जा बढ़ जाता है, आर्थिक नुकसान बढ़ जाता है, व्यापार में नुकसान होने लगता है, अगर कोई पैसा ले ले तो वापस नहीं करता है | 

कुंडली के जिस भाव में ये योग बनेगा उसके हिसाब से ही परिणाम ज्यादा देखने को मिलेंगे | उदाहरण के लिए अगर व्यापार वाले भाव में बन जाए तो व्यापार में जातक बर्बाद हो जायेगा, विवाह में परेशानी आएगी, बार बार धोखा मिलेगा | अगर संतान भाव में  चंडाल योग बन जाए तो जातक संतान के कारण परेशां होता रहेगा, संतान रोगी रह सकती है, काम काज के भाव में अगर चंडाल योग बन जाए तो जातक का काम काज स्थिर नहीं रहता है, उसे बार बार काम बदलना पड़ता है, स्थाई नौकरी नहीं मिल पाती , मिल जाए तो किसी ना किसी कारण से छोड़ना पड़ती है | 

अतः अगर कुंडली में चंडाल योग के कारण बहुत परेशानी आ रही हो तो इसका उपाय ज्योतिष से पूछ के करना चाहिए | यहाँ ये जानना भी आवश्यक है की कोई एक उपाय नहीं होते हैं , कुंडली में कहा बना है उसकी शक्ति कितनी है, उसके हिसाब से उपाय निकले जाते हैं, अतः ज्योतिष को कुंडली दिखा के सही उपाय प्राप्त करे |

सूर्य ग्रहण योग :

ये योग तब बनता है जब राहू और केतु के साथ सूर्य बैठा हो कुंडली के किसी भाव में | सूर्य ग्रहण के प्रभाव से जातक को मान सम्मान मिलने में बहुत परेशानी आती है, पैतृक संपत्ति के सुख में कमी आती है, जातक का तेज कम होता है, पिता के स्वास्थ्य के कारण परेशानी बनती है, कानूनी अड़चने बहुत आती है |

कुंडली के जिस भाव में सूर्य ग्रहण योग बनेगा उस भाव के हिसाब से परिणाम ज्यादा दिखेंगे |

यहाँ ये भी जानना आवश्यक है की सूर्य ग्रहण के दुष्प्रभाव को कम करने के कोई १ उपाय नहीं होते हैं, योग कहाँ बना है, उसकी शक्ति कितनी है उसके आधार पे उपाय निकाले जाते हैं |

अतः ज्योतिष को कुंडली दिखा के सही उपाय प्राप्त करे |

पितृ दोष :

जब भी कुंडली में 9 भाव में शत्रु राशि के राहू या केतु बैठ जाए तो पितृ दोष बनाएगा या फिर कुंडली में सूर्य शत्रु का हो तो भी पितृ दोष बनता है या फिर शनि पीड़ित हो तो भी पितृ दोष को जन्म देता है |

कुछ विद्वानों का मानना है की यदि कुंडली के दूसरे, पांचवे या फिर नवे भाव में राहू, केतु या शनि बैठ जाए तो भी पितृ दोष बनता है |

इस दोष के कारण जातक के जीवन में हर काम में बाधा उत्पन्न होती है, बिना संघर्ष के कोई सुख प्राप्त नहीं होता, बनता काम भी बिगड़ जाता है, संतान रोगी हो सकती है, कर्जा बढ़ सकता है, गंभीर रोग उत्पन्न हो सकता है, विवाह में देरी हो सकती है आदि |

अतः इसका उपाय शीघ्र से शीघ्र करना चाहिए अच्छे ज्योतिष को कुंडली दिखा के |

नाग दोष :

यदि जातक के कुंडली में पंचम भाव में राहू मौजूद हो तो ऐसे में प्रबल नाग दोष बनता है | 

नाग दोष के कारण जातक को संतान हानि, विद्या प्राप्ति में परेशानी, शत्रु बाधा, असाध्य रोग से परेशानी होती है |

कुछ जातको को स्वप्न में भी नाग डसने का भय लगता है | भयानक सपने परेशां कर सकते हैं आदि |

इसका सबसे सरल उपाय ये है की शिव आराधना की जाए और दूसरे उपाय कुंडली में ग्रहों की स्थिति को देखने के बाद ही निकलता है अतः अच्छे ज्योतिष को कुंडली दिखाएँ |

अंगारक दोष :

कुंडली के किसी भी भाव में अगर मंगल के साथ राहू या केतु बैठ जाए तो अंगारक दोष को जन्म देता है | ये योग दुर्घटनाओं को जन्म देता है और अगर ये योग किसी जातक के कुंडली में अष्टम भाव में बन जाए तो निश्चित ही जातक दुर्घटनाओं में बहुत कुछ गँवा देता है | अगर अंगारक योग लग्न में बन जाए तो जातक को भयंकर क्रोधी बना देगा | 

इस योग का समाधान जरुर करते रहना चाहिए अन्यथा जातक गलत मार्ग में भी चला जाता है, नशे के आदि बन सकता है, गंभीर रोग का शिकार हो सकता है | 

पिशाच योग :

अगर कुंडली में राहू या केतु शनि के साथ बैठ जाए तो प्रबल पिशाच योग बनता है, इसके कारण जातक को कभी गंभीर समस्या से गुजरना पड़ता है, उपरी बाधा परेशां करती है, जातक को बार बार नजर दोष से गुजरना पड़ता है, हर काम में रुकावट आती है, डरावने सपना आते हैं, शत्रु बाधा बहुत बढ़ जाती है , जातक काले जादू से भी परेशां रह सकता है |

अगर कुंडली में पिशाच योग हो तो ऐसे में सुरक्षा के लिए प्रयोग अवश्य करवाने चाहिए ज्योतिष से सलाह लेके |

केमद्रुम योग :

ये योग चन्द्रमा से जुड़ा है अतः अगर चंद्रमा कुंडली में अकेला हो या फिर उसके आगे पीछे भाव में कोई ग्रह ना हो, या फिर उसपर किसी ग्रह की दृष्टि ना पड़ रही हो तो ऐसे में जातक केमद्रुम योग से ग्रस्त होता है | इस योग के कारण जातक को बहुत ज्यादा परिश्रम करना पड़ता है, हर काम में बाधा आती है, विवाह देर से होता है, जीवन साथी के साथ बनता नहीं है, संतोष जनक आय नहीं हो पाता है |

तो अगर आपके कुंडली में केमद्रुम योग बन रहा हो तो ऐसे में आपको ज्योतिष से परामर्श लेके सही उपाय करने चाहिए |

विष योग :

अगर कुंडली में शनि और चन्द्रमा साथ में बैठ जाए  या फिर एक दूसरे को पूर्ण दृष्टि से देखे तो विष योग का निर्माण करता है |

इस योग के कारण जातक को मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ता है, प्रेम संबंधो में बहुत परेशानी आती है, स्वास्थ्य रह रह के ख़राब होता रहता है आदि | 

ऐसे में जरुरी है की कुंडली का पूरा विश्लेषण करवा के सही उपाय किया जाए |

चन्द्र ग्रहण योग :

अगर कुंडली में चन्द्रमा के साथ किसी भाव में राहू या केतु बैठ जाए तो ऐसे में चन्द्र ग्रहण योग बनता है| इस योग के कारण जातक को बहुत परेशानी उठानी पड़ती है, माता के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है, जातक मानसिक तौर पर कमजोर पड़ता है, नजर बहुत लगती है, डर बहुत लग सकता है आदि |

तो इस प्रकार हमने देखा की कुंडली में कौन से 9 प्रकार के दोष मिल सकते हैं वैदिक ज्योतिष के अनुसार और उनसे हमे क्या क्या नुकसान हो सकता है | कुंडली में मौजूद दोष कितना असर दिखाएँगे, ये इस बात पर निर्भर करेगा की वो किस भाव में बने है और कितने शक्तिशाली है | 

अगर आप भी अपनी कुंडली दिखवाना चाहते हैं और जानना चाहते हैं अपने कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहों के बारे में, कमजोर ग्रहों के बारे में, नुकसानदायक योगो के बारे में तो संपर्क करे विश्वसनीय ज्योतिष सलाह के लिए |

Jyotish ke 9 khatarnaak yog jo barbaad kar sakte hain, 9 नुकसानदायक योग जो जीवन में संघर्ष पैदा करते हैं, जानिए कैसे बनते हैं ये योग कुंडली में | चंडाल योग, 9 dangerous yoga in birth chart, सूर्य ग्रहण योग, चन्द्र ग्रहण योग, पितृ दोष, नाग दोष, अंगारक योग, पिशाच योग, केमद्रुम योग, विष योग|

Shani Jayanti Aur Amavasya Ka Mahattw

शनि जयंती महत्व, आसानी से कैसे करें शनि की पूजा, शनि जयंती पर शनि पूजा के लाभ, शनि जयंती का ज्योतिषीय महत्त्व, टोटके, का ज्योतिष।

शनि देव का सम्बन्ध न्याय से है और इसलिए लोग शनि से डरते हैं। शनि जयंती एक बहुत ही विशेष उत्सव है जब शनि देव के भक्त शनि देव के आशीर्वाद कोपाने के लिए विशेष अनुष्ठान करते हैं। यह दिन विशेष महत्व रखता है और इसलिए लोग शनि मंत्र का पाठ करते हैं, शनि देव का अभिषेक करते हैं, जरूरतमंदों की मदद के लिए चीजों का दान करते हैं, हवन करते हैं आदि ।

Shani Jayanti Aur Amavasya Ka Mahattw in hindi jyotish
Shani Jayanti Aur Amavasya Ka Mahattw

अंग्रेजी में शनि को  Saturn कहा जाता है और यह एक कठोर ग्रह है। यह संपत्ति, आंतरिक शरीर के अंगों, धातु, तेल, काला रंग, लोहा आदि से सम्बन्ध रखते है। ऐसा माना जाता है कि शनि भगवान सूर्य और उनकी पत्नी देवी छाया के पुत्र हैं।

शनि जयंती के शुभ दिन पर हम पूरे दिन शनि मंदिरों में भीड़ देख सकते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली में शनि अशुभ है तो व्यक्ति को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है और इसलिए शनि जयंती पर विशेष पूजा करना अच्छा होता है।

मान्यता के अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस्या को शनि देव का जन्म हुआ था और इसलिए हर साल इस दिन भक्त शनिदेव का जन्मदिन बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं।

Watch video here:

वर्ष 2021 में शनि जयंती:

  • इस वर्ष शनि जयंती 10 जून 2021, गुरुवार को पड़ रही है और तिथि अमावस्या है, नक्षत्र रोहिणी होगा और गोचर कुंडली में शनि सकारात्मक रहेगा इसलिए जो लोग शनि देव को प्रसन्न करना चाहते हैं उनके लिए दिन बहुत महत्वपूर्ण है।
  • यदि कुंडली में शनि अशुभ या नीच का हो तो इस दिन को अनुष्ठान करने से न चूकें।
  • यदि कोई व्यक्ति बुरी नजर से प्रभावित है या काले जादू से ग्रस्त है तो छुटकारा पाने के लिए अनुष्ठान कर सकते हैं ।
  • अगर कुंडली में पितृ दोष है तो भी इस दिन को मिस न करें क्योंकि अमावस्या भी है।
  • गोचर कुंडली में ग्रहों की स्थिति अच्छी है जिससे इस दिन का लाभ पूरा पूरा लिया जा सकता है ।

अमावस्या के साथ शनि जयंती का महत्व

  1. 10 जून 2021 ज्योतिष के अनुसार जीवन को सफल बनाने के लिए शनि पूजा करने का सबसे अच्छा दिन है।
  2. बाधाओं को दूर करने और जीवन के पापों को कम करने के लिए भगवान शिव की पूजा करने के लिए भी यह दिन बहुत शुभ है।
  3. अमावस्या के साथ शनि जयंती जब एक साथ आती है तो कुंडली में पितृ दोष, कालसर्प दोष, प्रेत दोष वाले लोग भी इससे छुटकारा पाने के लिए अनुष्ठान कर सकते हैं।
  4. काला जादू के शिकार लोग इस दिन उतारा भी कर सकते हैं और खुद को बचाने के लिए प्रार्थना कर सकते हैं।
  5. यदि शनि की साढ़े साती जीवन को तनावपूर्ण बना रही है या कुंडली में शनि दोष है तो शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए इस दिन का उपयोग करना अच्छा है।
  6. हिंदू पौराणिक कथाओं में भी जीवन की समस्याओं को कम करने के लिए भगवान शिव की पूजा करने का सुझाव दिया गया है और इसलिए शनि जयंती के इस शुभ दिन अमावस्या के साथ शिव मंदिर में विशेष पूजा करना शुभ है।

सफल जीवन के लिए शनि देव को प्रसन्न करने के आसान तरीका:

  • सुबह जल्दी उठें और पूरे दिन ब्रह्मचर्य बनाए रखें।
  • यदि स्वास्थ्य ठीक है तो पूरे दिन उपवास रखने के लिए संकल्प लें और पूरा दिन मन्त्र जप, भजन, साधना करने में गुजारे |
  • शनिदेव की मूर्ति अपने सामने रखें और क्षमता अनुसार दीपक, धूप, भोग, दक्षिणा अर्पित करें।
  • पंचामृत से अभिषेक करें ।
  • आप किसी भी शनि मंत्र का जाप करते हुए तेल से भी अभिषेक कर सकते हैं।
  • शनि चालीसा या शनि स्तोत्र आदि का पाठ करें।
  • बाधा मुक्त जीवन के लिए प्रार्थना करें।
  • जरूरत की चीजों का दान करें।
  • अगर आपको कोई भूखा इंसान या जानवर मिले तो उसे खिलाएं।
  • पूरे दिन शनि मंत्र का जाप करने का प्रयास करें।

आइए अब जानते हैं जीवन को समस्याओं से मुक्त करने के कुछ आसान उपाय या टोटके:

जीवन में जो भी पीड़ित हैं, वे जीवन को अद्भुत बनाने के लिए ये टोटके कर सकते हैं।

  1. इस दिन शाम यानि 10 जून 2021 को शनि की चीजों से उतारा करके फिर इन चीजों को किसी पीपल के पेड़ के नीचे या बहती नदी में छोड़ दें। यह जीवन में अशुभ शनि के प्रभाव को कम करने में मदद करेगा।
  2. अगर आपके घर में दिन-प्रतिदिन कलह बढ़ रही है तो काली सरसों की धूप यानि की राई की धुप दे शाम को और फिर गुगल या लोबान से धूप दें। इससे नकारात्मकता दूर होगी।
  3. सुबह जल्दी उठकर शनि देव की पंचोपचार पूजा करें और शनि देव के 108 नामों का पाठ करें। अपने बेहतर जीवन के लिए प्रार्थना करें।
  4. आप पितृ शांति पूजा, कालसर्प शांति पूजा भी करवा सकते हैं।
  5. यदि आप पितरों को प्रसन्न करना चाहते हैं तो पितृ तर्पण प्रक्रिया करना न भूलें।
  6. अगर आपको इस दिन कोई गरीब बिना चप्पल के दिख जाए या फिर बिना वस्त्र के दिखे तो उन्हें चप्पल और वस्त्र भेंट करे |

भारत में शनि जयंती का बहुत महत्व है और इसमें कोई शक नहीं कि भक्तों को उनके समर्पण और अनुष्ठानो का फल मिलता है और इसलिए दशकों से अनुष्ठान चल रहे हैं।

शनि देव की कृपा से सभी का दुर्भाग्य दूर हो , यही कामना |

शनि जयंती महत्व, आसानी से कैसे करें शनि की पूजा, शनि जयंती पर शनि पूजा के लाभ, significance of shani jayanti  2021,   शनि जयंती का ज्योतिषीय महत्त्व, टोटके, का ज्योतिष।

Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega

Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega, क्या बदलाव होंगे दुनिया में, किन उपायों से कम कर सकते हैं मंगल के दुष्प्रभाव को, mars transit in cancer predictions, जानिए ज्योतिष से | 

जब भी कोई शक्तिशाली ग्रह अपनी राशि बदलते हैं तो बहुत बड़े बदलाव देखने को मिलते हैं| 2 जून 2021 को सुबह लगभग 6:40 मिनट पर मंगल अपने नीच राशि में प्रवेश करेंगे और आने वाले 20 जुलाई के लगभग 5:30 शाम तक रहेंगे | 2 जून की सुबह तक मंगल अपने शत्रु राशी मिथुन में रहेंगे और इस काल में भी लोगो को खूब परेशानी हुई है परन्तु जब वो अपने नीच राशि में जायेंगे तो बहुत ज्यादा असर अपने दुनिया में और 12 राशी वाले लोगो के जीवन में देखने को मिलेगा | 

Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega by hindi jyotish
Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega

मंगल शक्ति का प्रतिक है, पृथ्वी के पुत्र है, उर्जा से भरपूर है अतः इनका गोचर बहुत बड़े परिवर्तन लेके आता है | अंधी तूफ़ान बढ़ सकता है, प्राकृतिक आपदाएं परेशां कर सकती है, दुर्घटनाएं बढ़ सकती है, वाद –विवाद बढ़ सकता है | 


आगे बढ़ने से पहले ये भी बताना चाहेंगे की जिन लोगो के कुंडली में मंगल नीच के हैं , उनके जीवन में सबसे ज्यादा असर देखने को मिलेगा और उन लोगो को विशेष सावधानी की जरुरत रहेगी अन्यथा घोर संकट में फंस सकते हैं, स्वास्थ्य हानि, धन हानि, मान हानि से गुजरना पड़ सकता है |

आइये जानते हैं मंगल के अपने नीच राशि कर्क में गोचर का असर 12 राशियों पर क्या होगा ?

Watch video here:

मेष राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

मंगल मेष राशी के स्वामी है और अब नीच राशि में जाने से मेष राशि वालो के जीवन में काफी उतार चढ़ाव लेके आएगा | क्रोध बढ़ सकता है, काम काज और अपने मान सम्मान को बचाने के लिए पहले से अधिक मेहनत करना पड़ सकता है | भूमि सम्बन्धी कार्यो में परेशानी आ सकती है , दुर्घटनाओं के शिकार हो सकते हैं, अतः आपको विशेष सावधानी की आवश्यकता है |

वृषभ राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

वृषभ राशि वालो को परिवारक क्लेश का सामना करना पड़ सकता है, अन्दर से कमजोरी महसूस हो सकती है| भाई बहनों के साथ मन मुटाव हो सकता है | यात्राओं के कारण परेशानी बढ़ सकती है | काम काज में बार बार बाधाओं का सामना करना पड़ने से अवसाद हो सकता है | 

मिथुन राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

मिथुन राशि वालो को धन हानि के योग बनते हैं , अपनी बोली के कारण आप विवाद में फंस सकते हैं , चेहरे पे चोट लग सकती है | स्वास्थ्य हानि के कारण अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ सकता है | आपके लिए जरुरी है की अब आप किसी से बहस ना करे और जितना हो सके शांति से बड़ो की राय लेके की कोई कदम उठायें |

कर्क राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

कर्क राशि में ही मंगल के आने से आप के अन्दर उर्जा का संचार होगा और क्रोध भी बढ़ जाएगा | आप उत्तेजना में आके निर्णय लेने लगेंगे जो की आपके लिए हानिकारक सिद्ध होगा | दोस्तों , पत्नी, पार्टनर के साथ अहंकार टकरा सकता है जिससे सम्बन्ध ख़राब हो सकते हैं | 

सिंह राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

सिंह राशि वालो का ख्रार्चा अत्यधिक बढ़ सकता है यात्राओं में स्वास्थ्य में| कर्जा बढ़ने के योग भी बनते हैं | किसी को भी उधार देने से बचे अन्यथा धन वापस मिलने में बहुत परेशानी होगी | इस समय किसी भी लम्बी यात्रा से भी बचे अन्यथा किसी बड़े परेशानी में फंस सकते हैं , कोई गंभीर बीमारी से परेशां हो सकते हैं |

कन्या राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

कन्या राशि वाले अब अती विश्वास में आके जोखिम भरे कार्य हाथ में ले सकते हैं | आपके अन्दर जोश, उर्जा की बढ़ोतरी होगी परन्तु आपको कोई भी निर्णय जल्दी में नहीं लेना है अन्यथा बड़ा नुक्सान कर बैठेंगे | घर के बड़ो का आशीर्वाद लेके की कार्यो को करे और उनसे किसी भी प्रकार का विवाद ना करे | सट्टे के कार्य से दूर रहें और शेयर मार्किट में भी संभल के निवेश करें | अपने प्रेमी से भी शांति से बात करें अन्यथा वाद विवाद में पड़ सकते हैं |

तुला राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

तुला राशि वालो को अपने काम काज के लिए पहले से ज्यादा मेहनत करना होगा, अपने मान सम्मान को बचाने के लिए भी आपको विशेष मेहनत करना होगी | उच्च अधिकारियो के साथ आपको अच्छे सम्बन्ध बना के रखने के लिए विशेष मेहनत काना होगी | पिता के साथ मन मुटाव बढ़ सकता है |

वृश्चिक राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल अपने नीच राशि में रहेंगे जिसके कारण आपके अन्दर विचलितता बढ़ेगी, क्रोध बढेगा, पिता के स्वास्थ्य को लेके चिंता बढ़ सकती है या फिर उनसे मनमुटाव बढ़ सकता है | अपने काम को बढाने के लिए आपको अब पहले से जायदा मेहनत करना होगी | बनते हुए काम बिगड़ सकते हैं अतः सावधानी रखे और जब तक सफलता ना मिले तब तक मेहनत करते रहें |

धनु राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

धनु राशि के लोगो को अपने स्वास्थ्य के प्रति विशेष सावधानी रखना होगी, कानूनी कार्यवाही से बच के रहें, खाने पीने में विशेष सावधानी रखें अन्यथा बड़े संकट में फंस सकते हैं | जमीन जायदाद सम्बन्धी विवादों में फंस सकते हैं | जितना हो सके अपने आप को शांत रखे और विवाद से बचे | 

मकर राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

मकर राशि के लोगो में क्रोध बढेगा, विचलितता बढ़ जाएगी, जीवन साथी के साथ सम्बन्ध ख़राब हो सकते हैं | अगर साझदारी में कोई काम करते हैं तो अब आपको विशेष सावधानी रखना होगी | किसी करीबी से धोखा मिल सकता है |

कुंभ राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

कुम्भ राशि वालो को अपनी इच्छाओं के कारण परेशां होना पड़ेगा, जिनको उधार दिया है उनसे धन वापस लेने में बहुत कठिनाई आएगी | शत्रु आपके जीवन में बाधाओं को उत्पन्न करेंगे | किसी भी वाद विवाद के कारण बड़ी परेशानी में फंस सकते हैं | 

मीन राशि पर क्या असर होगा 2 जून से 20 जुलाई 2021 तक मंगल के कर्क राशी में आने से ?

मीन राशि वालो को अब किसी प्रकार के सट्टे से दूर रहना चाहिए, अंदाजे से कोई काम ना करें | अपने प्रेमी के साथ किसी भी प्रकार के वाद विवाद से बचे | आपको अपने विद्या का सही और पूरा स्तेमाल करने में परेशानी आएगी जिसके कारण मन परेशान रह सकता है | विद्यार्थियों को को अब पहले से ज्यादा मेहनत करना होगी सफलता प्राप्त करने के लिए | 

तो हमने देखा की मंगल के कर्क राशि में जाने से १२ राशी वालो के जीवन में क्या परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं , अब सभी के लिए जरुरी है की उत्तेजना से बचे और धैर्य के साथ ही कोई निर्णय ले |

आइये जानते हैं की कौन से उपाय से मंगल के खराब असर को कम कर सकते हैं ?

  1. अगर आपके कुंडली में मंगल नीच के हैं तो आपको मंगल शांति पूजा अब जरुर से करवानी चाहिए |
  2. भोलेनाथ का अभिषेक मीठे जल से करें |
  3. बंदरों को गुड और चना खिलाये |
  4. मंगलवार का व्रत करें और मीठा बांटे | 
  5. अपने बड़े भाई को कुछ ना कुछ उपहार प्रदान करें और उनसे आशीर्वाद ले |
  6. अगर कुंडली में मंगल ख़राब है तो लाल कपडा पहनने से बचे, ताम्बे का कड़ा ना पहने |

तो इस प्रकार कुछ आसान उपाय करके हम मंगल के दुष्प्रभाव को कम कर सकते हैं | 

अगर आप जीवन में बहुत परेशां है , कुछ समझ नहीं आ रहा है, वैवाहिक जीवन ख़राब हो रहा है, प्रेम जीवन में संकट आ गया है तो दिखाएँ अपनी कुंडली ज्योतिष को और जानिए कारण और समाधान | 

Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega, क्या बदलाव होंगे दुनिया में, किन उपायों से कम कर सकते हैं मंगल के दुष्प्रभाव को, mars transit in cancer predictions, जानिए ज्योतिष से | 

Shani Ko Khush Karne Ke Saral Upaay

शनि को खुश करने के सरल उपाय ज्योतिष अनुसार, how to please Saturn for healthy and wealthy life, शनि कृपा कैसे प्राप्त करें ?

सूर्य पुत्र शनि देव जो की मृत्यु के देवत यम के भाई भी है न्याय के लिए प्रसिद्द है इसी कारण जब शनि महा दशा , अन्तर्दशा में आते हैं तो जातक को सबसे ज्यादा बदलाव जीवन में नजर आते हैं | शनि के धैया और साडेसाती के दौरान भी जातक को बहुत ज्यादा उठापटक जीवन में नजर आते हैं |

Shani Ko Khush Karne Ke Saral Upaay in hindi jyotish
Shani Ko Khush Karne Ke Saral Upaay

शनि की कृपा से जहा जातक ऐश्वर्ययुक्त जीवन जी सकता है वही उनके क्रोध के कारण पूरी तरह बर्बाद भी हो सकता है इसी कारण शनि की दृष्टि से सभी को भय लगता है |

आइये जानते हैं शनि देव को खुश करने के कुछ आसान तरीके :

Watch Video here:

  1. अगर शनि के कारण जीवन में बहुत ज्यादा परेशानी बढ़ गई हो और कुछ सूझ ना रहा हो तो ऐसे में असहाय लोगो की सहायता करनी चाहिए, दिव्यांग लोगो की सहायता से, असहाय लोगो की मदद से शनि देव बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं और जीवन के बड़े बड़े कष्ट पलभर में दूर होने लगते हैं | आप भूखो को अन्नदान कर सकते हैं, दिव्यांग लोगो को उनके जरुरत के सामान ला के दे सकते हैं, वस्त्र दान कर सकते हैं, तेल का दान कर सकते हैं , चप्पल और जूते का दान कर सकते हैं |
  2. अगर शनि के कारण रोग और शोक जीवन में उथल पुथल मचा रहा हो तो ऐसे में शिव जी की पूजा के साथ शनि देव की पूजा करना चाहिए और जितना हो सके “ ॐ नमः शिवाय ” और “ॐ शनेश्वराय नमः ” मन्त्र का जप करना चाहिए | इससे शिव जी और शनि देव की कृपा प्राप्त होती है और परेशानियाँ कम होने लगती है |
  3. अगरकुंडली में शनि ख़राब हो तो भूलके भी किसी का अपमान ना करे विशेषकर जो आपके यहाँ पे नौकरी या काम करते हैं अन्यथा दुर्भाग्य जीवन में प्रवेश करने लगता है | अपने यहाँ काम करने वालो की जरूरतों का ध्यान रखे और शनि देव की कृपा आपके जीवन का भी कायाकल्प कर देगी |
  4. शनि देव की सवारी है कौवा तो अगर शनि देव की कृपा प्राप्त करनी है तो शनिवार के दिन विशेषकर जरुर उन्हें भोजन कराएं और अगर रोज उनके लिए अपने भोजन में से कौओ के लिए भोजन निकाले तो चमत्कारिक रूप से जीवन में परवर्तन महसूस करेंगे | कौओ को भोजन कराने के समय शनि देव के मन्त्र का जप करना ना भूले | इससे शनि देव के साथ ही पितरो की कृपा भी आप प्राप्त कर सकते है “
  5. एक और शक्तिशाली तरीका है की अगर आप धन खर्च कर सकते हो तो ऐसे में शनि की महाशांति पूजा आपको करवाते रहना चाहिए अगर कुंडली में शनि देव अच्छी स्थिति में ना हो, शनि की साड़े साती चल रही हो , शनि की धैया चल रही हो या फिर शनि देव महादशा, अन्तर्दशा में चल रही हो | इसके लिए आप ज्योतिष से संपर्क कर सकते हैं |
  6. जो लोग हनुमानजी की भक्ति करते हैं, उन्हें भी शनि पीड़ा बहुत कम होती है अतः अगर आप भयंकर संकट से गुजर रहे हो शनि के कारण तो ऐसे में हनुमान जी की पूजा कर सकते हैं, हनुमानजी को शनिवार को चोला चढ़ा सकते हैं, हनुमानजी 108 परिक्रमा कर सकते हैं और जीवन को संकतो से मुक्त करने के लिए प्रार्थना कर सकते हैं |
  7. अगर आप घर पर हवन कर सकते हैं तो रोज शनि देव के 108 मंत्रो से हवन करे और सामग्री में काला टिल स्तेमाल करे या फिर सरसों के तेल से भी कर सकते हैं |

तो अगर जीवन में शनि देव के कारण बिमारी परेशां कर रही हो, कर्जा बढ़ता जा रहा हो, पारिवारिक जीवन अस्त व्यस्त हो गया हो, काम काज नहीं मिल रहा हो तो शनि देव की कृपा प्राप्त करें और जीवन में होने वाले बदलाव को महसूस करें |

तो उम्मीद है इस लेख में आपको शनी को प्रसन्न करने के कुछ आसान तरीके प्राप्त हुए होंगे जिनका स्तेमाल करके आप अपने जीवन को बाधाओं से  मुक्त कर पायेंगे |

अगर आप भी जीवन में परेशानी से गुजर रहे हैं तो ज्योतिष को कुंडली दिखा के जानिए कारण और समाधान |

  • जानिए कौन सी पूजा आपके जीवन में से संकतो को हटा सकती है |
  • कौन सा रत्न भाग्योदय करेगा |
  • कब होगा विवाह
  • संतान कब होगी
  • प्रेम जीवन कैसा होगा |

शनि को खुश करने के सरल उपाय ज्योतिष अनुसार, how to please Saturn for healthy and wealthy life, शनि कृपा कैसे प्राप्त करें ?

12 Rashiyo Ki Love Life

12 राशियों का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार, लव लाइफ कैसी रहती है विभिन्न राशियों की, love astrology.

12 Rashiyo Ki Love Life by best love guru, love astrologer, prem vivah, prem jivan.
12 Rashiyo Ki Love Life

मेष राशी
Watch Video here:div>

मेष राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

aries love horoscope, मेष राशि का प्रेम जीवन, characteristics of aries people in terms of love life, astrologer for love predictions.

मेष राशि का प्रेम जीवन
मेष राशि का प्रेम जीवन

मंगल ग्रह के प्रभाव के कारण मेष राशि के लोग बहुत ही ऊर्जावान होते हैं लेकिन प्यार के मामले में वे किसी तरह संतुष्ट नहीं होते हैं क्योंकि वे अपने पेशे या सेवा में बहुत व्यस्त रहते हैं और इस तरह अपने प्रेमी को उचित समय नहीं देते हैं। मेष राशि के लोग अपने पार्टनर से बहुत ज्यादा उम्मीदें रखते हैं जो की इनके प्रेम जीवन में कभी ना कभी बाधा उत्पन्न करता ही है |

मेष राशि के लोग बिना किसी दबाव के स्वतंत्र जीवन जीना पसंद करते हैं और किसी को दबाव में रखना भी नहीं चाहते हैं ।

मेष राशि वालों की सबसे अच्छी बात यह है कि अगर वे किसी से प्यार करते हैं तो सच्चा प्यार देते हैं, उनकी हर बात का विशेष ध्यान रखते हैं देते हैं और पार्टनर का बहुत ख्याल रखते हैं लेकिन दूसरी तरफ कुछ समय बाद काम में व्यस्त होने के कारण उन्हें पार्टनर की देखभाल करने का समय नहीं मिलता है। और यह कभी-कभी समस्याएं पैदा करता है।

मंगल के प्रभाव के कारण मेष राशि के प्रेमियों को अपने गुस्से के कारण समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जब वे क्रोधित हो जाते हैं तो अपनी भयानक प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित करने में असमर्थ होते हैं। यदि कोई मेष राशि का व्यक्ति प्रेम जीवन में असफल हो जाता है तो डिप्रेशन में चला जाता है और वे प्रियतम का दिल जीतने के लिए सब कुछ करने के लिए तैयार हो जाते हैं |

मेष राशि वाले नहीं चाहते कि प्रेम जीवन में कोई रुकावट आए। ये अपने पार्टनर के साथ स्वतंत्र रूप व्यक्तिगत समय बिताना पसंद करते हैं और हर दृष्टि से अपने साथी को संतुष्ट करने की कोशिश करते हैं ।

यदि आपकी राशि मेष है और आपकी कुंडली में मंगल अशुभ है या फिर कमजोर है तो आपको प्रेम जीवन में काफी कठिनाइयो का सामना करना पड़ सकता है ऐसे में प्रेम जीवन को सफल बनाने के लिए ज्योतिषी से मार्गदर्शन लेकर उपाय करना चाहिए |

मेष राशि के जातक अपने जीवनसाथी के प्रति बहुत वफादार होते हैं, यदि उन्हें अच्छा प्रेमी मिल जाए तो निःसंदेह रोमांटिक जीवन संतोषजनक हो जाएगा। ये लोग शब्दों का प्रयोग करने के बजाय अपने कार्यों से अपनी भावनाओं को दिखाना पसंद करते हैं। मेष प्रेमी के साथ एक समस्या यह होती है कि कभी-कभी उनके प्यार और देखभाल करने का तरीका पार्टनर के लिए परेशानी का सबब बन जाता है। इसलिए सफल प्रेम जीवन जीने के लिए भावनाओं और कार्यों पर नियंत्रण रखना अच्छा है ।

यदि आप मेष राशि के प्रेमी हैं और अपनी कुंडली के अनुसार जानना चाहते हैं अपने प्रेम जीवन के बारे में तो सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी सेवा के लिए संपर्क कर सकते हैं | 

  • जानिए आपके लिए भाग्यशाली रत्न, जानिए आपकी कुंडली के शक्तिशाली ग्रहों के बारे में और जानिए अपने प्रेम जीवन को सफल बनाने के सर्वोत्तम उपाय।
  • ज्योतिषी से सलाह लेकर अपने प्रेम संबंधों को करें मजबूत |
  • जानिए लव लाइफ में सफलता पाने के उपाय।

12 राशियों का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार, लव लाइफ कैसी रहती है विभिन्न राशियों कीlove astrology.

वृषभ राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Taurus love horoscope, वृषभ राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Taurus people in terms of love life, astrologer for love predictions.

षभ राशि का प्रेम जीवन
षभ राशि का प्रेम जीवन

शुक्र ग्रह के प्रभाव के कारण वृषभ राशि के लोग काफी भाग्यशाली होते हैं, ज्योतिष के अनुसार शुक्र ग्रह व्यक्तिगत जीवन, प्रेम जीवन, विलासिता आदि से सम्बन्ध रखता है | वृषभ राशि के लोग एक वफादार साथी की तलाश में होते हैं जो वास्तव में सच्चा प्यार दे और उनके साथ quality time व्यतीत करे ।

वृष राशि के लोग प्रेम जीवन में ज्यादा बदलाव नहीं चाहते हैं लेकिन आंतरिक रूप से वे अपने साथी के साथ कुछ बेहतरीन पल चाहते हैं।

वृषभ राशि के लोग आसानी से नहीं खुलते; उन्हें अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए सही वातावरण की आवश्यकता होती है। साथ ही ये किसी से भी आसानी से जुड़ नहीं पाते हैं लेकिन एक बार किसी से प्यार कर लेते हैं तो फिर प्यार के साथ पूरी जिंदगी शांति से जीना चाहते हैं।

वे प्रिय से स्वच्छता, अच्छे उपहार, अच्छे व्यवहार की अपेक्षा करते हैं। वृष राशि के लोग रोमांटिक होते हैं लेकिन सार्वजनिक रूप से नहीं, वे समय के अनुसार कार्य करते हैं और कभी-कभी इसके कारण ग़लतफ़हमी भी पैदा हो जाती है | वृष राशि वाले बहुत केयरिंग होते हैं और अपने पार्टनर को मनचाहा सम्मान भी देते हैं। वे अपने हर काम को गंभीरता से लेते हैं और जिम्मेदारी को समझते हैं और इसलिए लव लाइफ भी उनके लिए एक जिम्मेदारी है इसलिए अगर ये लोग प्यार में पड़ जाते हैं तो अपनी जिम्मेदारियों को निभाने की कोशिश करते हैं । वे अपने प्रेमी की इच्छाओं को पूरा करने की हर संभव कोशिश करते हैं।

वृषभ राशि के लोग अपने पार्टनर के साथ शांतिपूर्ण जीवन जीना चाहते हैं। वे पार्टनर के साथ लग्जरी लाइफ जीना चाहते हैं, वे अपने प्रेमी के साथ हर पल का मजा लेना चाहते हैं ।

यह भी एक सत्य है कि वृषभ राशि के लोगों में विपरीत लिंग को आसानी से आकर्षित करने की विशेषताएं होती हैं, ऐसा इसलिए है क्योंकि शुक्र उनका स्वामी है।

यदि कुंडली में शुक्र की शक्ति पर्याप्त न हो तो वृष राशि के जातकों को प्रेम जीवन में परेशानी का सामना करना पड़ता है, ऐसे में प्रेम जीवन को सफल बनाने के लिए ज्योतिष के कुछ शक्तिशाली तरीकों को अपनाना आवश्यक है।

यदि आपकी राशि वृष राशि है और आप अपने प्रेम जीवन में संतुष्ट नहीं है तो जानिए अपने कुंडली के अनुसार कारण और उपाय वैदिक ज्योतिष अनुसार |

प्रेम जीवन को बढ़ाने के लिए भाग्यशाली रत्न को जानें, प्रेम जीवन की समस्याओं को हल करने के लिए आपके लिए सर्वोत्तम पूजाओं के बारे में जानिए| 

वृष राशि के प्रेमियों में धैर्य की अच्छी शक्ति होती है जो वास्तव में अच्छी होती है और कई बार रिश्तों को बचाती है। ये लोग पार्टनर को खुश करने के लिए नए नए तरीके खोजना जानते हैं । यदि आप अपनी ऊर्जा पर नियंत्रण रखते हैं तो निस्संदेह आपके साथी के साथ आपके निजी पल अद्भुत बनेंगे।

मिथुन राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Gemini love horoscope, मिथुन राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Gemini people in terms of love life, astrologer for love predictions.

मिथुन राशि का प्रेम जीवन
मिथुन राशि का प्रेम जीवन

बुध ग्रह के प्रभाव के कारण मिथुन राशि के लोग बहुत ही चतुर और आकर्षक व्यक्तित्त्व के स्वामी होते हैं | प्यार के मामले में ये लोग किसी भी तरह लव लाइफ को एन्जॉय करना पसंद करते हैं।

अगर कुंडली में बुध बहुत ज्यादा शक्तिहाली हो या फिर ख़राब ग्रह से ग्रस्त हो तो ऐसे में ये जातक को प्लेबॉय भी बना सकता है |मिथुन राशि के लोग ऐसा साथी चाहते हैं जो प्रेम जीवन का खुलकर आनंद ले सके। आप एक पारंपरिक जीवन साथी के साथ नहीं रहना चाहते हैं। मिथुन राशि के लोग जीवन में मस्ती-मजा चाहते हैं।

सही मायने में देखा जाए तो मिथुन राशि के लोगों को एक गतिशील साथी की आवश्यकता होती है जो यह जानता हो कि उसके साथ जीवन जीने में रुचि कैसे पैदा की जाए।

अस्थिर मन होने के कारण मिथुन राशि के जातकों के लिए जीवन भर एक ही रिश्ते में रहना मुश्किल होता है, अगर पार्टनर जीवन में रोमांच भरने में सक्षम ना हो तो । इसलिए वे आसानी से रिश्ते बदल लेते हैं जो किसी किसी के लिए कभी-कभी समस्या बन जाता है | ये लोग असल में आजादी के साथ जिंदगी जीना चाहते हैं। 

प्रेम जीवन का आनंद लेने की प्यास मिथुन राशि के लोगों के लिए असीमित और अप्रत्याशित होती है और इसलिए वे संतुष्टि मिलने तक नियमित रूप से भटकते रहते हैं।

मिथुन राशि के व्यक्ति को एक ऐसे जीवनसाथी की आवश्यकता होती है जो प्रेम जीवन का आनंद लेने के लिए स्वतंत्र रूप से संवाद कर सके और साथी को हर चीज के लिए स्वतंत्र कर सके।

यह भी एक सच्चाई है कि अगर इन लोगों को उनके जैसा साथी मिल जाए तो वे जीवन का सच्चा आनंद लेते हैं और साथी के प्रति वफादार भी रहते हैं।

यदि आप मिथुन राशि के प्रेमी हैं और अपनी कुंडली के अनुसार जानना चाहते हैं की आपका प्रेम जीवन कैसा रहेगा, कैसे बना सकते हैं और बेहतर तो सर्वश्रेष्ठ ज्योतिष परामर्श के लिए संपर्क कर सकते हैं |

अपनी प्रेम समस्याओं से छुटकारा पाएं।

जानिए लव लाइफ में सफलता पाने के उपाय।

Gemini love horoscope, मिथुन राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Gemini people in terms of love life, astrologer for love predictions.

कर्क राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Cancer love horoscope, कर्क राशि का प्रेम जीवन, cancer zodiac people in terms of love life, astrologer for love predictions.

कर्क राशि का प्रेम जीवन
कर्क राशि का प्रेम जीवन

चन्द्रमा के प्रभाव के कारण कर्क राशि के जातक केयरिंगऔर इमोशनल होते हैं और इनकी प्रकृति भी समय-समय पर बदलती रहती है। ये लोग असल में सपनों में जीवन जीते हैं।

वे बहुत ज्यादा सोचते हैं और ज्यादातर समय सपने देखने में बिता देते हैं जाते हैं जो कभी-कभी समस्याएं पैदा करती हैं।

प्रेम जीवन में वे अपने साथी से भी ये अपेक्षा रखते हैं की वे भी उनका ध्यान रखे, उनकी भावनाओं का सम्मान करे लेकिन एक और तथ्य यह है कि वे बहुत मूडी हैं और यह प्रेम जीवन के लिए समस्या है । कर्क राशि के लोग अपने मूड के अनुसार प्रेम जीवन का आनंद लेना पसंद करते हैं और कभी-कभी यह जीवनसाथी के लिए समस्या बन जाती है।

कर्क राशि के लोग फिल्मों, नाटकों से आसानी से प्रभावित होते हैं और वे अपने प्रेम जीवन में भी ऐसा ही चाहते हैं। आपको एक देखभाल करने वाला साथी चाहिए जो आपसे सच्चा प्यार करे और आपकी भावनाओं को समझे। 

कर्क राशि के लोग परिवार के साथ जीवन जीना चाहते हैं और इसलिए आपको एक ऐसे प्रेमी की जरूरत है जो परिवार के सदस्यों के साथ जीवन जीना पसंद करे। ये लोग वास्तव में पारिवारिक होते हैं। अगर ये लोग प्यार में पड़ जाते हैं तो इससे बाहर निकलना मुश्किल होता है। वे रिश्तो में गहराई से प्रवेश करते हैं और अगर साथी धोखा देता है तो कर्क राशि वालों के लिए इसे पचाना मुश्किल होता है और वे मानसिक रूप से बीमार हो जाते हैं।


ये लोग प्रेम संबंधों के मामले में सुरक्षित रूप से आगे बढ़ना चाहते हैं।

यदि कुंडली में चंद्रमा अच्छी स्थिति में ना हो और कमजोर हो तो कर्क राशि वालो को प्रेम जीवन या पारिवारिक जीवन में बहुत कष्ट होता है। इस मामले में उचित मार्गदर्शन के लिए ज्योतिषी से परामर्श करना अच्छा है।

एक अच्छा रत्न निश्चित रूप से आपके प्रेम जीवन को सही करने में आपकी मदद करेगा।

एक अच्छी पूजा आपके रिश्तों को बेहतर बनाने में भी आपकी मदद कर सकता है।

ग्रह हमारे जीवन को नियमित रूप से प्रभावित कर रहे हैं और इसलिए ज्योतिष मार्गदर्शन निश्चित रूप से जीवन को बेहतर बनाने में मदद करता है |

यदि आप कर्क राशि के प्रेमी हैं और कुंडली के अनुसार अपने प्रेम जीवन के बारे में जानना चाहते हैं तो तो यहां ऑनलाइन सर्वश्रेष्ठ ज्योतिष मार्गदर्ष के लिए संपर्क कर सकते हैं |

जानिए आपके लिए भाग्यशाली रत्न, जानिए आपकी कुंडली के शक्तिशाली ग्रहों के बारे में और जानिए अपने प्रेम जीवन को सफल बनाने के सर्वोत्तम उपाय।

अपनी प्रेम समस्याओं से छुटकारा पाएं।

जानिए लव लाइफ में सफलता पाने के उपाय।

Cancer love horoscope, कर्क राशि का प्रेम जीवन, characteristics of cancer people in terms of love life, astrologer for love problems solutions.

सिंह राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Leo love horoscope, सिंह राशि का प्रेम जीवन, characteristics of leo people in terms of love life, astrologer for love predictions.

सिंह राशि का प्रेम जीवन
सिंह राशि का प्रेम जीवन

सूर्य के प्रभाव के कारण सिंह राशि के लोग नाम और यश प्राप्त करना चाहते हैं और नेतृत्त्व क्षमता भी रखते हैं | प्रेम के मामलो में भी ये लोग कुछ हट के करना चाहते हैं , वे लोगों को अपने प्यार के बारे में बताना चाहते हैं और वे इसे एक स्टेटस सिंबल बना लेते हैं। वे प्रेमी के साथ खुली जिंदगी का आनंद लेना चाहते हैं और उपहारों में ज्यादा खर्च करने से भी नहीं हिचकिचाते। सिंह राशि के लोगों में ऊर्जा बहुत होती है और इन लोगों में प्यार का इजहार करने का तरीका असाधारण होता है और निश्चित रूप से यह प्रिय के मन में एक अलग छाप छोड़ता है।

सिंह राशि के लोग पार्टनर के साथ किसी भी पल को खोना नहीं चाहते हैं और यह कभी-कभी जीवन में समस्याएं पैदा करता है। कभी-कभी वे साथी को उसकी इच्छा के अनुसार कार्य करने के लिए भी मजबूर करते हैं, साथ ही उन्हें अपनी गलती का एहसास भी होता है और सुधार करने का प्रयास करते हैं।

आपकी पसंद भी बहुत अलग होती है और दूसरों को आपके जीवन स्तर को देख के जलन होती है, इससे समाज में प्रतिद्वंद्विता भी पैदा हो सकती है। सूर्य प्रभाव के कारण सिंह राशि के लोग रचनात्मक, घुमने वाले, बुद्धिमान और चंचल होते हैं।

यदि 2 सिंह जातक प्रेमी बन जाएं तो निःसंदेह समाज में एक अलग छवि स्थापित कर सकते हैं। सिंह राशि के साथी को संतुष्ट करना दूसरों के लिए मुश्किल होता है। सिंह राशि के लोग अनुयायी बनाना चाहते हैं और यह दिखाने की कोशिश करते हैं कि वे श्रेष्ठ हैं।

सिंह राशि के लोग एक वफादार और सच्चा प्रेमी चाहते हैं और वे पार्टनर को खुश करने के लिए सब कुछ कर सकते हैं। अगर कोई आपका प्रिय बन जाता है तो निःसंदेह उसके लिए आपको छोड़कर जाना मुश्किल है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आप अलग हैं और जीवन बिताने के रचनात्मक तरीके जानते हैं।

आप अहंकारी भी हैं जो कभी-कभी प्रेम जीवन में समस्याएँ पैदा कर सकता है। इससे सावधान रहें और अपने अहंकार को अपने जीवन को बर्बाद न करने दें।

यदि आप सिंह राशि के हैं और प्रेम जीवन में परेशानी का सामना कर रहे हैं तो चिंता न करें। आपनि कुंडली के अनुसार जानिए कारण और ज्योतिषी समाधान |

जानिए लव लाइफ के लिए बेस्ट रत्न।

जानिए जीवन को सफल बनाने के लिए सबसे अच्छी पूजा।

अपनी कुंडली के अनुसार जानिए अपने प्रेम जीवन के रहस्य।

Leo love horoscope, characteristics of leo people in terms of love life, सिंह राशि का प्रेम जीवन, astrologer for love problems solutions.

कन्या राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

virgo love horoscope, कन्या राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Virgo people in terms of love life, astrologer for love predictions.

कन्या राशि का प्रेम जीवन
कन्या राशि का प्रेम जीवन

बुध ग्रह के प्रभाव के कारण कन्या राशि  के जातक चंचल स्वभाव के होते है और वे स्वयं नहीं जानते कि कौन सी भावना कब उठेगी और वे कैसा व्यवहार कर बैठेंगे |

तो यही इनकी लव लाइफ में सबसे बड़ी बाधा है। इनके साथी प्रेमी कन्या राशि के जातकों की अपेक्षाओं और व्यवहार के बारे में नहीं समझ पाते हैं।

हालांकि उनके पास अच्छी रणनीति बनाने वाला दिमाग होता है और इसलिए वे जानते हैं कि किसी भी स्थिति को कैसे संभालना है। लेकिन जब लव लाइफ की बात आती है तो वे पहले ही पल में परेशान हो जाती हैं। वास्तव में उन्हें सच्चे प्यार के बारे में समझने के लिए मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। जब कोई उन्हें इस विषय के बारे में समझाता है तो निस्संदेह वे प्रिय के साथ एक अच्छा जीवन बिता सकते हैं।

कन्या राशि के जातकों के बारे में एक अच्छी बात यह है कि वे आसानी से दूसरे के मन का पता लगा लेते हैं यही गुण पार्टनर को बेहतर तरीके से चुनने में मदद करता है।

आप औपचारिक रूप से जीवन जीना चाहते हैं इसका मतलब है कि आप सब कुछ सही चाहते हैं और एक विशिष्ट क्रम में, आप अच्छे कपड़े पहनना चाहते हैं, आप अच्छा व्यवहार करना चाहते हैं और आप जीवन को भी अच्छी तरह जीना चाहते हैं। कभी-कभी इस प्रकार का स्वभाव पार्टनर के साथ जीवन में परेशानी खड़ी कर देता है।

जब कन्या राशि के लोग दिखावे करने के लिए उतारू होते हैं तो उनका मुकाबला करना संभव नहीं होता है, वे अपने प्रेम को व्यक्त करने के लिए बढ़िया रणनीति बनाने में सक्षम है |

कन्या राशि के जातक देखभाल करने वाले, ईमानदार होते हैं और पार्टनर को पूरा सम्मान देते हैं।

कुछ कन्या प्रेमी बहुत अधिक अंतर्मुखी होते हैं और इसलिए पार्टनर के लिए उन्हें बेहतर तरीके से समझना मुश्किल होता है।

इस प्रकार के लोग प्रेमी के साथ भागना नहीं चाहते लेकिन वास्तव में वे माता-पिता से अपने रिश्तों के बारे में बात करना चाहते हैं और फिर कोई कदम उठाते हैं | आपके पास दूरदृष्टि होती है और आप उसके हिसाब से ही कोई निर्णय लेते हैं |

यदि आपकी राशि कन्या है और आप प्रेम जीवन में समस्या का सामना कर रहे हैं तो जानिए अपनी कुंडली के अनुसार कारण और समाधान वैदिक ज्योतिष अनुसार |

यदि बुध कुंडली में अच्छी स्थिति में नहीं है तो संभव है कि आप अपने प्रेम जीवन में पीड़ित हो,  प्रेम जीवन समस्या समाधान के लिए ज्योतिषी से परामर्श करें और ज्योतिष के माध्यम से सर्वोत्तम उपाय भी जाने ।

Virgo love horoscope, characteristics of virgo people in terms of love life, कन्या राशि का प्रेम जीवन, Online match maker for for love problems solutions.

तुला राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Libra love horoscope, तुला राशि का प्रेम जीवन, characteristics of libra people in terms of love life, astrologer for love predictions.

तुला राशि का प्रेम जीवन
तुला राशि का प्रेम जीवन

शुक्र ग्रह के प्रभाव के कारण तुला राशी के लोग काफी आकर्षक होते हैं और ये लोग पार्टनर के साथ लव लाइफ का आनंद लेते हैं। तुला राशि के लोग एक आदर्श साथी की तलाश में होते हैं जो प्रेम जीवन के महत्व को समझता हो । ये लोग नियमित रूप से जीवन भर के लिए एक अच्छे साथी की तलाश करते हैं। वे तब तक भटकते रहते हैं जब तक उन्हें उम्मीद के मुताबिक साथी नहीं मिल जाता।

चूंकि शुक्र का संबंध सुंदरता, प्रेम, रोमांस, विलासिता से है और इसलिए ये लोग अपनी अनूठी शैली, बेहतरीन शरीर, प्रभावशाली व्यक्तित्व के लिए जाने जाते हैं । इन्हें पिकनिक, ट्रैवलिंग, पार्टी करना पसंद है।

तुला राशि के लोग अपने जीवन को हर तरह से संतुलित करने की कोशिश करते हैं | वे बहुत खुले विचारों वाले होते हैं और परिवर्तनों को आसानी से स्वीकार कर लेते हैं और इसलिए उन्हें उनके जैसे साथी की आवश्यकता होती है। लोग आसानी से तुला राशी वालो की तरफ आकर्षित हो जाते हैं क्योंकि उनके पास एक अद्वितीय व्यक्तित्व होता है, उनके पास बात करने, चलने, प्रस्तुत करने का अपना अनूठा तरीका होता है। ये लोग असल में समाज में नया फैशन पैदा करते हैं और लोग इसे फॉलो करते हैं।

प्रेम जीवन के लिए कोई भी स्थायी निर्णय लेने में इन्हें समय लगता है। उदाहरण के लिए, यदि वे प्यार में हैं तो वे साथी के साथ शादी करने में जल्दबाजी नहीं करते हैं और यह कभी-कभी रिश्ते में समस्या पैदा कर सकता है। बेहतर की तलाश में जीवन में कभी-कभी समस्याएं आ सकती हैं और इस वजह से वे कभी-कभी अच्छी चीजें खो देते हैं।

यदि आप तुला राशि के हैं और प्रेम जीवन में समस्या का सामना कर रहे हैं तो अपने मूड बदलने वाले व्यक्तित्व पर भी नज़र रखें, अपने डर के कारण अच्छे निर्णय लेने से चूक ना जाए | साथ ही जीवन के बहुत महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए दूसरों पर निर्भर न रहें। अपने आप पर विश्वास करें और जीवन का आनंद लेने के लिए जोखिम उठाएं।

इसमें कोई शक नहीं कि तुला राशि के प्रेमी पार्टनर को संतुष्ट करना, पार्टनर को खुश करना, प्रेम संबंध कैसे बनाए रखना है, यह जानते है।

यदि कुंडली में शुक्र अशुभ हो या कमजोर हो तो तुला राशि के जातकों को रिश्तों में परेशानी का सामना करना पड़ता है, ऐसे में मार्गदर्शन के लिए ज्योतिषी से सलाह लेना अच्छा होता है।

  • जन्म कुंडली की गहन विश्लेषण रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए ज्योतिषी से संपर्क करे |
  • जानिए आपके लिए बेस्ट लकी रत्न के बारे में।
  • जानिए कुंडली में मौजूद शक्तिशाली ग्रहों के बारे में।
  • जानिए कुंडली में समस्याग्रस्त ग्रहों के बारे में।
  • लव मैच मेकिंग के लिए ज्योतिषी से संपर्क करें

Libra love horoscope, characteristics of libra people in terms of love life, तुला राशि का प्रेम जीवन, how to make love life successful through astrology.

वृश्चिक राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Scorpio love horoscope, वृश्चिक राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Scorpio people in terms of love life, astrologer for love predictions.

वृश्चिक राशि का प्रेम जीवन
वृश्चिक राशि का प्रेम जीवन

मंगल ग्रह के प्रभाव के कारण वृश्चिक राशि के लोग ऊर्जावान, आक्रामक होते हैं और अपनी भावुक भावनाओं के लिए भी जाने जाते हैं। ये लोग कब कैसे रिएक्ट करेंगे, इसका अंदाजा कोई नहीं लगा सकता।

वृश्चिक राशि वालों को रहस्यमयी भी माना जाता है | इन व्यक्तियों के विचार लगातार बदलते रहते हैं जिससे वे अपना निर्णय बार-बार बदलते हैं।

ये लोग आसानी से किसी पर भरोसा नहीं करते हैं और इसलिए ये सच्चा प्रेम संबंध स्थापित करने में समय लेते हैं और कुछ लोग संदिग्ध व्यवहार के कारण अच्छे रिश्ते भी खो देते हैं।

अगर वृश्चिक राशि के जातकों को उनकी अपेक्षा के अनुरूप जीवनसाथी मिल जाता है तो निःसंदेह प्रसन्न करने का प्रयास करते हैं लेकिन चंचल मन के कारण ये श्रेष्ठ नहीं दे पाते। कोई ना कोई भय हमेशा इनको परेशान करता है जिससे जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है।

इस राशि के लोगों में पार्टनर को संतुष्ट करने की पर्याप्त शक्ति होती है लेकिन इच्छाशक्ति की कमी के कारण ये लव लाइफ के वास्तविक सुख से वंचित रह जाते हैं। आपके संदिग्ध स्वभाव, अवांछित भय के कारण आपका प्रेम जीवन प्रभावित होता है।

यह एक सच्चाई है कि अगर आप अपने प्रिय के साथ कोई निजी पल बिताते हैं तो उस समय को भूलना असंभव है लेकिन ऐसा बहुत कम होता है। यदि आप अपनी नकारात्मक भावनाओं को नियंत्रित करते हैं तो निस्संदेह आपका प्रेम जीवन अद्भुत बन जाएगा।

इस प्रकार के व्यक्ति कभी-कभी अपने साथी के बारे में पूछताछ करने के लिए जासूस को भी नियुक्त करते हैं, व्यक्तिगत रूप से वे बहुत ही व्यक्तिगत विचारों और प्रिय के निजी जीवन के बारे में जानना चाहते हैं। कभी-कभी यह प्रकृति जीवन को बर्बाद कर देती है |

यदि कुंडली में मंगल अच्छी स्थिति में नहीं है तो इन लोगों को जीवन में बहुत कष्ट होता है, ऐसे में मार्गदर्शन के लिए अनुभवी ज्योतिषी से परामर्श करना अच्छा होता है। अपनी कुंडली के अनुसार अपने प्लस और माइनस पॉइंट के बारे में गहराई से जानें और जीवन को सफल बनाने का सबसे अच्छा तरीका जानें।

  • जानिए भाग्यशाली रत्न रत्न के बारे में।
  • जानिए आपके लिए सही दान के बारे में।
  • जानिए अपने शुभ दिन के बारे में।
  • ज्योतिष के माध्यम से अपने प्रेम जीवन की समस्याओं का ज्योतिष समाधान प्राप्त करें।

Scorpio love horoscope, characteristics of Scorpio people in terms of love life, वृश्चिक राशि का प्रेम जीवन, Online match maker for for love problems solutions.

धनु राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Sagittarius love horoscope, धनु राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Sagittarius people in terms of love life, astrologer for love predictions.

धनु राशि का प्रेम जीवन
धनु राशि का प्रेम जीवन

गुरु ग्रह के प्रभाव के कारण धनु राशि के लोग शक्तिशाली और बुद्धिमान होते हैं और विभिन्न क्षेत्रों का ज्ञान प्राप्त करने में रुचि रखते हैं। ऐसे लोग सिन्धान्त्वादी भी होते हैं |

धनु राशि के लोग आध्यात्मिक होने के साथ-साथ भौतिकवादी भी होते हैं। वे सांसारिक इच्छाओं के साथ-साथ आध्यात्मिक दुनिया का भी आनंद लेना चाहते हैं। आपके पास अच्छी ऊर्जा है और अनुभव हासिल करने के लिए यात्रा करना भी पसंद है | साहस भी आपका विशेष गुण है ।

प्रेम जीवन के संदर्भ में, आप स्वतंत्र और खुला जीवन जीना चाहते हैं और इसलिए आपको एक ऐसे साथी की आवश्यकता है जो इस तरह से जीवन का आनंद लेने के लिए समझ रखता हो और कंपनी दे सके जो बहुत कठिन है और इसलिए कुछ धनु राशि के लोग अच्छे की तलाश में बहुत अधिक समय व्यतीत करते हैं। 

धनु राशि के जातक बुद्धिमान होते हैं और उन्हें इसका अहसास होता है, इस वजह से वे छोटे प्रोजेक्ट नहीं करना चाहते हैं और यह सोच जीवन में कभी-कभी बड़ी समस्याएं उत्पन्न कर देती हैं। आप एक ऐसे साथी के प्यार में पड़ सकते हैं जो आपको जीवन में बड़ी सफलता पाने के लिए हमेशा प्रेरित करने के लिए तैयार रहता है।

आपके दिमाग और साहसिक स्वभाव के कारण लोग आपकी कंपनी को पसंद करते हैं। आप एक अच्छे नेता हैं और आसानी से दूसरे के दिल में जगह बना लेते हैं। जब धनु राशि के लोगों को किसी से प्यार हो जाता है तो निस्संदेह वे अपने साथी की हर तरह से मदद करने की कोशिश करते हैं और यह भावनात्मक व्यवहार कभी-कभी जीवन में समस्याएं भी पैदा करता है। कुछ चालाक लोग इस प्रकृति का लाभ उठाते हैं।

धनु राशि के जातकों में दोहरा व्यक्तित्व होना आम है और इसलिए कभी-कभी वे स्वयं नहीं समझ पाते कि किस प्रकार का व्यक्ति जीवनसाथी के लिए सर्वोत्तम है। ऐसे में कई बार फैसले गलत हो जाते हैं। इसलिए अपने आप को समझें और उसके बाद ही निर्णय लें ।

यदि जन्म कुंडली में बृहस्पति अशुभ या कमजोर हो तो धनु राशि के जातकों को जीवन में बहुत अधिक समस्या का सामना करना पड़ता है। इस मामले में मार्गदर्शन के लिए ज्योतिषी से परामर्श करना अच्छा है।

यदि आप धनु राशि के हैं और प्रेम जीवन में समस्या का सामना कर रहे हैं तो सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषी सलाह के लिए संपर्क कर सकते हैं |

Sagittarius love horoscope, characteristics of dhanu rashi people in terms of love life, धनु राशि का प्रेम जीवन, Online match maker for for love problems solutions.

मकर राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Capricorn love horoscope, मकर राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Capricorn people in terms of love life, astrologer for love predictions.

मकर राशि का प्रेम जीवन
मकर राशि का प्रेम जीवन

शनि ग्रह के प्रभाव के कारण मकर राशि के जातक बहुत मेहनती,  गंभीर और चंचल होते हैं। मकर राशि के जातकों के प्रेम जीवन के बारे में मैं कहना चाहता हूं कि ये लोग अपने प्रिय के प्रति वफादार होते हैं लेकिन आसानी से बेचैन हो जाते हैं जो कि जीवन में सबसे बड़ी बाधा है।

मकर राशि के लोग सच्चे प्यार में पड़ना चाहते हैं और अगर वे असफल हो जाते हैं तो वे एक तपस्वी का जीवन जीना पसंद करते हैं। लेकिन यह भी देखा गया है कि कुछ मकर राशि के लोग आगे बढ़ते हैं और दूसरा साथी ढूंढ लेते हैं।

ये लोग अपनी हैसियत, नाम, शोहरत को लेकर बहुत जागरूक होते हैं और इसलिए ये मकर राशि के लोग वहां परिवार के लिए बहुत जिम्मेदार होते हैं और पारिवारिक भी होते हैं |

करिअर को लेकर गंभीर होने के बावजूद मकर राशि के लोग अपनी लव लाइफ और परिवार की जिम्मेदारी को नहीं भूलते। वे शांति के साथ संतुलित जीवन जीने की भी कोशिश करते हैं।

जहां तक रोमांटिक जीवन की बात है, मकर राशि के लोग मूडी भी होते हैं इसलिए वे मूड के अनुसार काम करते हैं। 

आपको वास्तव में आपको समझने के लिए एक खुले दिमाग वाले व्यक्ति की आवश्यकता है। कई बार देखा गया है कि मकर राशि के लोग अपने सिद्धांतों और विचारों की वजह से आपस में ही झगड़ते हैं।

यदि आप अपनी वासना, क्रोधी स्वभाव और मूडी स्वभाव को नियंत्रित करते हैं तो निस्संदेह आप अपने प्रेम जीवन को अद्भुत बना सकते हैं।

यदि आप एक मकर राशि के व्यक्ति हैं और प्रेम जीवन में समस्या का सामना कर रहे हैं, तो वैदिक ज्योतिष के अनुसार जानिए अपनी कुंडली का विश्लेषण और उपाय |

जानिए अपनी लव लाइफ प्रॉब्लम सॉल्यूशंस के बारे में।

जानिए लकी स्टोन के बारे में।

Capricorn love life as per astrology, how makar rashi people behave in love life, मकर राशि का प्रेम जीवन, know about love life of capricorn people.

कुम्भ राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Aquarius love horoscope, कुम्भ राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Aquarius people in terms of love life, astrologer for love predictions.

कुम्भ राशि का प्रेम जीवन
कुम्भ राशि का प्रेम जीवन

कुम्भ राशिफल ज्योतिष के अनुसार प्रेम जीवन, कुंभ राशि के लोग प्रेम जीवन में कैसा व्यवहार करते हैं, जानिए कुंभ राशि वालों के प्रेम जीवन के बारे में।

शनि के प्रभाव के कारण कुम्भ राशि वाले लोग जिम्मेदार, गंभीर, ईमानदार और मेहनती होते हैं।

लव लाइफ के मामले में ये लोग अपने पार्टनर के प्रति काफी केयरिंग और ईमानदार होते हैं। ये अपने जीवनसाथी या प्रियतम को सच्चा प्यार देते हैं।

ये लोग स्वतंत्र रूप से जीवन जीने के बहुत शौकीन होते हैं इसलिए किसी भी हालत में अपनी स्वतंत्रता खोना नहीं चाहते हैं। कुंभ राशि के लोग एक ऐसे जीवनसाथी की तलाश में होते हैं जो उन्हें बेहतर ढंग से समझ सके और उनकी स्वतंत्रता को भी प्रभावित न करे।

कुंभ राशि के लोग बैक-एंड में काम करना पसंद करते हैं और इसलिए बैक ऑफिस के काम में सफल होते हैं । वे नेतृत्व नहीं करना चाहते हैं लेकिन महान सहायक हैं और निश्चित रूप से वे अपने काम को शानदार तरीके से दिखाते हैं। वरिष्ठों को उनके महत्व के बारे में पता होता है।

प्रेम जीवन में एक समस्या जो इनके प्रेमी को सामना करना पड़ता है वह ये की कुंभ राशि के लोगों के व्यक्तित्व और मनोदशा का अनुमान लगाना मुश्किल होता है | एक क्षण में वे शांत प्रतीत होते हैं और दूसरे क्षण में वे चंचल और अस्थिर हो जाते हैं। यह उनके व्यक्तित्व में एक बड़ी बाधा है जो उनके प्रेम जीवन को भी प्रभावित करती है।

वास्तविकता यह है कि कुंभ राशि के लोग खुद को स्पष्ट रूप से नहीं समझते हैं और इसलिए दूसरों के लिए उन्हें पूरी तरह से समझना संभव नहीं है और इस वजह से उनका प्रेम जीवन कभी-कभी बहुत पीड़ित होता है। ऐसे में ये लोग कभी-कभी वर्षों तक तपस्वी का जीवन व्यतीत करते हैं।

ये लोग अपने आस पास के माहौल से आसानी से प्रभावित होते हैं जिसके कारण ये कभी कभी अस्थिर हो जाते हैं, अपनी इस आदत को सुधार के ये अच्छा जीवन जी सकते हैं |

आप मानते हैं कि दूर के ढोल सुहाने लगते हैं और यह अवधारणा आपके रिश्तों में भी देखी जाती है। 

कुछ कुंभ राशि के जातक शॉर्ट टर्म रिलेशनशिप में खुश रहते हैं। अगर कोई उनकी आजादी को प्रभावित करता है तो ब्रेकअप भी आसानी से कर लेते हैं |

यदि आपकी राशि कुम्भ है और आप प्रेम जीवन में समस्या का सामना कर रहे हैं तो किसी एक अच्छे ज्योतिषी से मार्गदर्शन अवश्य लें।

  • अपनी प्रेम समस्याओं का सर्वोत्तम उपाय प्राप्त करें।
  • अपने सफल जीवन के लिए भाग्यशाली रत्न के बारे में जानिए |
  • जानिए कौन सी पूजा आपके लिए शुभ रहेगी ।
  • जानिए कुंडली में कौन से ग्रह आपको परेशां कर रहे हैं |

Aquarius love life as per astrology, how Kumbh rashi people behave in love life, कुम्भ राशि का प्रेम जीवन, know about love life of Aquarius people.

मीन राशि का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार :

Pisces love horoscope, मीन राशि का प्रेम जीवन, characteristics of Pisces people in terms of love life, astrologer for love predictions.

मीन राशि का प्रेम जीवन
मीन राशि का प्रेम जीवन

बृहस्पति के प्रभाव के कारण मीन राशि के लोग बहुत नटखट, चंचल और बुद्धिमान होते हैं। 

मीन राशि का ज्योतिष चिन्ह 2 मछलियाँ हैं जो पानी में रहती हैं। लव लाइफ को लेके मीन राशि वाले बेहद संवेदनशील और इमोशनल होते हैं। लेकिन उन्हें सपनों में जीना पसंद है। वे अपनी कल्पना के अनुसार रोमांटिक जीवन का आनंद लेना चाहते हैं।

मीन राशि के लोग बहुत रचनात्मक होते हैं और अपने साथी / प्रिय को खुश करने का अलग तरीका जानते हैं। उनकी प्रकृति के कारण साथी उनके पास सुरक्षित महसूस करते हैं।

आप वास्तव में दोहरे दिमाग वाले हैं और इसलिए कभी-कभी आपको अपने लिए सही मैच खोजने में मुश्किल होती है। एक क्षण में किसी को पसंद करते हो और दूसरे क्षण में दूसरे को खोजते हो।

मीन राशि के लोग सुरक्षित और सच्चे साथी की तलाश में होते हैं जो उनके स्वभाव के अनुसार उनका सहयोग और देखभाल भी कर सके।

ये लोग आज़ादी के साथ सुरक्षित जीवन जीना चाहते हैं और जब वे पाते हैं कि कोई उनके जीवन को प्रभावित कर रहा है तो वे बहुत दूर चले जाते हैं और संबंध तोड़ने से भी नहीं हिचकिचाते।

ये लोग अपनी जरूरत और इच्छा के अनुसार अपना व्यवहार बदलना जानते हैं |

संदेहपूर्ण स्वभाव एक और गुण है जो कभी-कभी सच्चे संबंध बनाने में समस्याएँ पैदा करता है, सुरक्षा की दृष्टि से आप अपने साथी / प्रिय पर नज़र रखने से भी नहीं चुकते हैं | कभी-कभी आप अपने इस स्वभाव के कारण प्रेम जीवन में गलत निर्णय ले लेते हैं। 

वास्तव में आपको अपने स्वभाव के कारण अपने साथी के सामने खुलने से डर लगता है और आप यह सोचने में अपना समय व्यतीत करते हैं कि अपने प्रिय से खुलकर बात करें या नहीं। यह प्रकृति आपके जीवनसाथी या प्रेमी के लिए परेशानी का कारण बन जाती है |

यदि जन्म कुंडली में बृहस्पति कमजोर या अशुभ हो तो व्यक्ति को प्रेम जीवन, रोमांटिक जीवन में समस्या का सामना करना पड़ता है,  ऐसे में ज्योतिष के द्वारा उपाय प्राप्त करना चाहिए |

  • अपनी कुंडली/कुंडली के विस्तृत विश्लेषण के लिए ज्योतिषी से संपर्क करें।
  • जानिए आपके लिए सबसे अच्छा और भाग्यशाली रत्न।
  • जानिए आपके लिए शुभ दिन के बारे में।
  • जानिए ज्योतिष के अनुसार आपके लिए सबसे अच्छी पूजा के बारे में।
  • सर्वश्रेष्ठ भविष्यवाणियों के लिए ऑनलाइन ज्योतिषी से संपर्क करें

Pisces love life as per astrology, how Meen rashi people behave in love life, मीन राशि का प्रेम जीवन,  know about love life of Pisces people.

12 राशियों का प्रेम जीवन ज्योतिष अनुसार, लव लाइफ कैसी रहती है विभिन्न राशियों की, love astrology predictions for 12 zodiacs.

Jyotish ke 9 khatarnaak yog jo barbaad kar sakte hain

Jyotish ke 9 khatarnaak yog jo barbaad kar sakte hain, 9 नुकसानदायक योग जो जीवन में संघर्ष पैदा करते हैं, जानिए कैसे बनते हैं ये योग कु...