Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2021

Astrology website

Vedic astrology services || Horoscope Reading || Kundli Analysis || Birth Chart Calculation || Pitru Dosha Remedies || Love Life Reading || Solution of Health Issues in jyotish || Career Reading || Kalsarp Dosha Analysis and remedies || Grahan Dosha solutions || black magic analysis and solutions || Best Gems Stone Suggestions || Rashifal || Predictions || Best astrologer || vedic jyotish || Online jyotish || Phone astrology ||

Benefits of shukra gayatri mantra

Benefits of Shukra gayatri mantra,  Lyrics of Shukra gayatri mantra, how to chant this mantra? According to Hindu astrology, Venus is related to life partner, happiness, intimate-science, romance, beauty, sensuality, passion, comfort, poetry, flowers, youth, work, lust, jewelry, wealth, art, music, dance, spring, rain, silver, luxury etc. Venus is related to all beautiful and alluring things. Venus has its effects on the genitals, reproductive system, eyes, throat, chin, cheeks and kidneys. According to Vedic astrology, the planet Venus is the master of Taurus and Libra sign. The exalted sign of Venus is Pisces and the debilitated sign is Virgo. Shukra is the son of the great sages Bhrigu and Khyati. The planet Venus is considered to be the guru of demons. Benefits of shukra gayatri mantra Shukra Gayatri Mantra bestows charm and artistic ability. By doing regular practice of Shukra Mantra, tremendous attraction power develops in the personality and the person is able to live life h

Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega

Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega, क्या बदलाव होंगे दुनिया में, किन उपायों से कम कर सकते हैं मंगल के दुष्प्रभाव को, mars transit in cancer predictions, जानिए ज्योतिष से |  जब भी कोई शक्तिशाली ग्रह अपनी राशि बदलते हैं तो बहुत बड़े बदलाव देखने को मिलते हैं| 2 जून 2021 को सुबह लगभग 6:40 मिनट पर मंगल अपने नीच राशि में प्रवेश करेंगे और आने वाले 20 जुलाई के लगभग 5:30 शाम तक रहेंगे | 2 जून की सुबह तक मंगल अपने शत्रु राशी मिथुन में रहेंगे और इस काल में भी लोगो को खूब परेशानी हुई है परन्तु जब वो अपने नीच राशि में जायेंगे तो बहुत ज्यादा असर अपने दुनिया में और 12 राशी वाले लोगो के जीवन में देखने को मिलेगा |  Mangal Kark Rashi Mai Kya Asar Dikhayega मंगल शक्ति का प्रतिक है, पृथ्वी के पुत्र है, उर्जा से भरपूर है अतः इनका गोचर बहुत बड़े परिवर्तन लेके आता है | अंधी तूफ़ान बढ़ सकता है, प्राकृतिक आपदाएं परेशां कर सकती है, दुर्घटनाएं बढ़ सकती है, वाद –विवाद बढ़ सकता है |  आगे बढ़ने से पहले ये भी बताना चाहेंगे की जिन लोगो के कुंडली में मंगल नीच के हैं , उनके जीवन में सबसे ज्यादा असर देखने को मिलेगा

Shani Ko Khush Karne Ke Saral Upaay

शनि को खुश करने के सरल उपाय ज्योतिष अनुसार, how to please Saturn for healthy and wealthy life, शनि कृपा कैसे प्राप्त करें ? सूर्य पुत्र शनि देव जो की मृत्यु के देवत यम के भाई भी है न्याय के लिए प्रसिद्द है इसी कारण जब शनि महा दशा , अन्तर्दशा में आते हैं तो जातक को सबसे ज्यादा बदलाव जीवन में नजर आते हैं | शनि के धैया और साडेसाती के दौरान भी जातक को बहुत ज्यादा उठापटक जीवन में नजर आते हैं | Shani Ko Khush Karne Ke Saral Upaay शनि की कृपा से जहा जातक ऐश्वर्ययुक्त जीवन जी सकता है वही उनके क्रोध के कारण पूरी तरह बर्बाद भी हो सकता है इसी कारण शनि की दृष्टि से सभी को भय लगता है | आइये जानते हैं शनि देव को खुश करने के कुछ आसान तरीके : Watch Video here: अगर शनि के कारण जीवन में बहुत ज्यादा परेशानी बढ़ गई हो और कुछ सूझ ना रहा हो तो ऐसे में असहाय लोगो की सहायता करनी चाहिए, दिव्यांग लोगो की सहायता से, असहाय लोगो की मदद से शनि देव बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं और जीवन के बड़े बड़े कष्ट पलभर में दूर होने लगते हैं | आप भूखो को अन्नदान कर सकते हैं, दिव्यांग लोगो को उनके जरुरत के सामान ला के दे सक

26 May 2021 ko Budh Badlenge Rashi

 Budh badlenge rashi 26 may 2021 ko, janiye kya hoga asar 12 raashiyo par par vedic jyotish anusar.  वैदिक ज्योतिष में बुध बहुत ही ख़ास ग्रह है और जिसके कुंडली में बुध ग्रह बहुत मजबूत हो, शक्तिशाली हो, वो जातक बुद्धिमान, बात करने में माहिर, तेज दिमाग वाला, सुन्दर त्वचा वाला होता है | बुध का प्रभाव व्यक्तित्त्व पर विशेष तौर पर पड़ता है | मिथुन और कन्या राशि का स्वामी ग्रह है बुध और 26 मई 2021 को ये अपने ही राशि मिथुन में प्रवेश करने वाला है | 26 May 2021 ko Budh Badlenge Rashi आइये जानते हैं कब करेगा बुध मिथुन राशि में प्रवेश : 26 मई 2021 , बुधवार को करीब सुबह 8 बजे बुध ग्रह अपने स्व राशि मिथुन में प्रवेश करेंगे जिसका बहुत ही अच्छा असर देखने को मिलेगा सभी तरफ | व्यापार जगत पर इसका अच्छा असर देखने को मिल सकता है, लोगो का आपस में मेलजोल बढेगा, अन्तराष्ट्रीय स्तर पर व्यापारिक सम्बन्ध मजबूत होने के योग बनेंगे | देश में जो व्यापार शिथिल पड़ गए हैं, वे सब वापस से बढ़ना शुरू होंगे | लोगो की आर्थिक स्थिति मजबूत होना शुरू होगी | आइये जानते हैं की १२ राशि वाले लोगो के जीवन में बुध के मिथुन र

Mansik Rogo Ka Jyotish Karan

मानसिक रोगों से जुड़े कुछ सच, मानसिक रोगों से सम्बंधित कुछ बातें, Myths Related To Mental Problems, मानसिक रोगों के ज्योतिषीय कारण |  Mansik Rogo Ka Jyotish Karan आइये जानते हैं हिंदी में मानसिक रोगों के बारे में : मानसिक रोग आज के दौर में बढ़ता जा रहा है, लोग किसी न किसी प्रकार के मानसिक रोगों से कभी न कभी ग्रस्त हो ही जाते हैं, इसका कारण है आज का माहोल जिसमे की अत्यधिक प्रतिस्पर्धा हो गई है, गंभीर रोगों का भय सताने लगा है, लोगो का एक दूसरे से मिलना जुलना बंद हो गया है, लोग ज्यादातर समय कंप्यूटर या मोबाइल के साथ गुजारने लगे है |  लोग आज कुछ पाने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाते हैं. कुछ को घर में परेशानी है , कुछ को ऑफिस में परेशानी है, कुछ को घर और ऑफिस दोनों जगह परेशानी है. तनाव लोगो के जीवन का एक हिस्सा बन गया है | साधारणतः लोग मानसिक रोगियों से दूरी बनाए रखना चाहते हैं जो की सही नहीं है. इन लोगो को बहुत ख्याल रखने की जरुरत है. इनको समझ के इनकी मदद करना चाहिए जिससे की इनमे सही सोच उत्पन्न हो सके और ये एक साधारण जीवन जी सके. आइये जानते है मानसिक रोगों से जुड़े कुछ भ्रम

Mohini Ekadashi Ka mahattw

मोहिनी एकादशी का महत्व, इस शुभ दिन पर कैसे करें व्रत, भगवान विष्णु को प्रसन्न करने का आसान तरीका। वैशाख शुक्ल पक्ष ग्यारस पर पड़ने वाला एक बहुत ही महान और शुभ दिन मोहिनी एकादशी है। भगवान विष्णु के भक्त जीवन को बाधा मुक्त करने के लिए, सफलता को आकर्षित करने के लिए,आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए इस दिन उपवास करते हैं और विभिन्न तरीको से पूजाएँ करते हैं । सन 2021 में 22 मई , शनिवार को मोहिनी एकादशी का शुभ दिन है | Mohini Ekadashi Ka mahattw जीवन की समस्याओं से निजात पाने के लिए यह दिन बहुत अच्छा है। जीवन को सफल बनाने का यह महत्वपूर्ण तरीका भगवान कृष्ण ने अपने महान भक्त युधिष्ठिर (पांडव के बड़े पुत्र) को बताया था और जिसे वास्तव में संत वशिष्ठ ने भगवान श्री राम को भी बताया था। मोहिनी एकादशी पर पूजा करने से व्यक्ति के जीवन में से दुःख कम होते हैं, पाप कटते हैं, बाधाएं नष्ट होती है, सफलता मिलने लगती है । ऐसी मान्यता है कि जो कोई भी इस दिन व्रत और पूजा करता है उन्हें भगवान विष्णु की कृपा से शांति, समृद्धि, स्वास्थ्य और धन की प्राप्ति होती है, भौतिक सुख सुविधा के साथ साथ अध्यात्मिक सफलता भी म

Vrishabh Sankranti 2021 Ka Prabhav 12 Rashi par Kaise rahega

ज्योतिष के अनुसार वृषभ संक्रांति का महत्व, ज्योतिषी द्वारा वृषभ संक्रांति की भविष्यवाणी, सूर्य के वृष राशि में प्रवेश करने पर क्या असर होगा १२ रशि वालो पर | जब भी सूर्य अपनी राशि बदलते हैं तो उसे संक्रांति कहते हैं, हर संक्रांति हिंदू ज्योतिष परंपरा के अनुसार पुण्य संचय करने के दृष्टिकोण से बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह दिन दान और प्रार्थना करने के लिए एक पवित्र दिन के रूप में माना जाता है। Vrishabh Sankranti 2021 Ka Prabhav 12 Rashi par Kaise rahega  वृष संक्रांति क्या है? जब सूर्य ग्रह  वृषभ राशि में प्रवेश करते हैं तो इस अवधि को वृष संक्रांति कहते हैं। ज्योतिष के अनुसार कुल 12 संक्रांति होते हैं हैं और ये सभी दान - पुण्य, जरूरतमंदों की मदद करने, प्रार्थना करने, आध्यात्मिक अभ्यास आदि करने के लिए बहुत अच्छे हैं। ऐसा माना जाता है कि संक्रांति पर दान या पूजा पाठ बहुत ज्यादा फल देते हैं । हिंदी पंचांग के अनुसार वृषभ संक्रांति वैशाख महीने में आती है | वृषभ का अर्थ है बैल और इसलिए यह माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव की पूजा करना अच्छा होता है और कुछ लोग पुण्य प्राप्त करने के लिए

Akshay Tritya 2021 Ki Khaas Baate jyotish anusar

अक्षय तृतीया क्या है, धार्मिक महत्व और समृद्धि के लिए इस दिन क्या करें, क्या न करें, अक्षय तृतीया पर सफलता के लिए टोटके, ग्रहों की स्थिति कैसी रहेगी आखा तीज के दिन वैदिक ज्योतिष अनुसार| यदि आप कोई भी शुभ कार्य शुरू करना चाहते हैं, यदि आप पुण्य कमाना चाहते हैं, यदि आप किसी भी कार्य में सफलता पाना चाहते हैं, यदि आप मुहूर्त के बारे में नहीं जानते हैं, यदि आपके पास अपने काम के लिए किसी विशेषज्ञ से परामर्श करने का समय नहीं है फिर चिंता न करें, किसी भी नए काम को शुरू करने के लिए इस अक्षय तृतीया के दिन का उपयोग करें। यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है और एक ऐसा मुहूर्त है जिसमें कोई भी अच्छा काम सबसे अच्छे परिणाम के लिए किया जा सकता है। Akshay Tritya 2021 Ki Khaas Baate jyotish anusar अक्षय तृतीया क्या है? इसे भारत में आखा तीज के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन को भगवान परशुराम के जन्मदिन के रूप में भी मनाया जाता है जो विष्णुजी के छठे अवतार हैं। यह वह दिन है जब गणेश जी  ने महाभारत लिखना शुरू किया था। यह भाग्य जगाने का दिन है, यह सफलता के लिए पूजा पाठ, अनुष्ठान करने का दिन है। अक्षय त

2021 ka pahla chandra grahan

2021 ka pahla chandra graham, जानिए कहाँ दिखेगा ये ग्रहण, क्या असर होगा इसका, क्या करे सफलता के लिए ज्योतिष अनुसार, जानिए राशिफल  ? इस साल 2021 में वैसे कोई भी ग्रहण पूरी तरह से भारत में दिखाई नहीं देगा परन्तु आंशिक रूप से कही कही दिखेगा कुछ समय के लिए अतः देखा जाए तो जहा ये दिखेगा वही इसका प्रभाव कुछ अंशो में महसूस होगा  और जिन देशो में ग्रहण पूरा देखेगा, वह पूरा प्रभाव महसूस होगा| 2021 ka pahla chandra grahan 2021 का पहला चन्द्र ग्रहण 26 मई, बुधवार को लगने जा रहा है, इस दिन वैशाख पूर्णिमा रहेगी |  आइये जानते हैं की 26 मई का चन्द्र ग्रहण कहाँ कहा दिखेगा ? भारत के उत्तर पूर्वी हिस्सों में और पश्चिम बंगाल के कुछ जगहों पे ये चन्द्र ग्रहण दिखाई देगा कुछ समय के लिए वो भी आंशिक तौर पर | इसके अलावा ये उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, अन्टार्क्टिका, प्रसंत महासागर और हिन्द महासागर में दिखेगा | जिस देश में पूरा देखेगा, वहां सूतक पूरा लगेगा और अन्य प्रभाव भी पूर्ण रूप से महसूस होंगे | Watch video here: आइये जानते हैं 26 मई के चन्द्र ग्रहण का ज्योतिष महत्त्व : चन्द्र