Skip to main content

Posts

Showing posts from December, 2021

Navtapa kya hota hai kab se lagega

Nautapa kya hota hai, नौतपा कब से शुरू होंगे 2022 में, क्या करें और क्या न करें navtapa mai, 2022 में नौतपा कब से लगेगा?| Nautapa 2022 me 25 मई बुधवार से शुरू होंगे और 2 जून गुरुवार तक रहेंगे | नवतपा में गर्मी अत्यधिक बढ़ जाती है इसीलिए ऐसे में लोग अपने आपको ठंडा रखने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रयोग करते हैं | क्या होता है नवतपा ? जब सूर्य देव चन्द्रमा के नक्षत्र रोहिणी में प्रवेश करते हैं तब शुरू होता है नवतपा और ये स्थिति 9 दिन तक बनी रहती है, इसे ही नवतपा कहते हैं | मान्यता के अनुसार इन 9 दिनों में भीषण गर्मी होती है | कहा जाता है की नवतपा जितना तपता है उतनी ही अच्छी बारिश होती है |  Navtapa kya hota hai kab se lagega Read in english what is navtapa? Nautapa/नौतपा के दिनों में क्या करें और क्या न करें? इस समय सूर्य की सीधी किरने धरती पर पड़ती है जिसके कारण गर्मी बढ़ जाती है तो ऐसे में कुछ ध्यान रखना चाहिए : गर्मी ज्यादा पड़ने पर पैरो के तलवे पे मेहंदी लगाना चाहिए, इससे ठंडक रहती है| जब भी बाहर निकले तो शारीर को पूरा ढक के निकले | पानी, फलो के ताजा रस, गन्ने का रस आदि समय समय

Benefits of Kamdev gayatra Mantra

What is kamdev gayatri mantra, how to chant kamdev mantra to enhance love in life, benefits of kamdev gayatri mantra in English, kamdev mantra for attraction. As per hindu mythology, kamdev is said to be the god of love who is able to bless any one with loving partner, power to enjoy the physical life. His beloved is rati known as the goddess of lust.  The kamdev gayatri mantra is also known as manmath gayatri mantra, this is one of the best spell to enhance the feeling of love, to enhance the pleasure in life.  If anyone chant this mantra then no doubt the god and goddess of love fill the life with divine love.  हिंदी में पढ़िए कामदेव गायत्री मन्त्र के फायदे   Benefits of Kamdev gayatra Mantra Let’s know the Kamdev Gayatri Mantra: ॐ कामदेवाय विद्महे पुष्पबाणाय धीमहि तन्नो अनंग प्रचोदयात Om Kamadevaya Vidmahe Pushpabanaya Dhimahi Tanno Anang Prachodayat Read more about Kamdev mantra power Meaning of kamdev gayatri mantra: Om, Let me meditate on the God of love, Oh, God who is

New Year 2022 Starting Horoscope

New year 2022 entering horoscope, what will be the planetary positions at 12:01 AM in the night, Predictions as per vedic astrology and numerology by astrologer. New Year 2022 Starting Horoscope Just at night 12:01 AM when new year 2022 start,  we will get the following planetary positions: Rahu and ketu will remain exalted. Sun and venus will be favorable. Saturn and mars will be present in their own zodiac. Conjunction of moon and ketu will form Chandra grahan yoga which is not good.  Conjunction of mars and ketu will form angarak yoga which is also not good. Starting kundli of 2022 If we see the transit horoscope then we can find that angarak yoga and Chandra grahan yoga is forming in scorpio zodiac, so it is necessary for scorpio people to take special precautions on this night. Do drive carefully and don’t cross your limit in enjoying the new year party otherwise you may suffer from major health issues.  The starting of new year is very special for Sagittarius and Capricorn

Sapt Rishi Kaun Hai

 ऋषि मुनि कौन होते हैं, सप्तऋषि कौन है, क्या योगदान है सप्त ऋषियों का | ऋषि मुनियों के बिना भारत की कल्पना नहीं की जा सकती है, ये ही वो महान लोग है जिन्होंने अपने शोध से भारत को अध्यात्मिक गुरु बनाया, इन्ही की दें है की आज हम जीवन को सहस रूप से जी पा रहे हैं | जीवन का ऐसा कोई विषय नहीं जिसपे ऋषि मुनियों ने शोध नहीं किया है | विभिन्न धर्म ग्रंथो में, इनके शोध मौजूद है हम वेद , उपनिषद कहते हैं |  अगर ऋषि मुनियों के जीवन शैली की बात करें तो ये अपना पूरा जीवन जंगल में एकांत में साधना करते हुए, शिक्षा देते हुए बिताते थे | आज भी ऐसे ऋषि हमे देखने को मिलते हैं, हिमालय में और अन्य तीर्थ स्थलों में |  Sapt Rishi Kaun Hai आइये अब जानते हैं सप्त ऋषियों के बारे में : विष्णु पुराण अनुसार इस मन्वन्तर के सप्तऋषि इस प्रकार है :- वशिष्ठकाश्यपो यात्रिर्जमदग्निस्सगौत। विश्वामित्रभारद्वजौ सप्त सप्तर्षयोभवन्।। अर्थात् सातवें मन्वन्तर में सप्तऋषि इस प्रकार हैं:- वशिष्ठ, कश्यप, अत्रि, जमदग्नि, गौतम, विश्वामित्र और भारद्वाज। 1. आइये जानते हैं वशिष्ठ ऋषि का योगदान : वशिष्ठ ऋषि , राजा दशरथ के कुलगु

shukra ka dhanu rashi me gochar ka rashifal

Shukra kab karenge dhanu rashi mai gochar December 2021 mai, शुक्र के धनु  राशि में प्रवेश का राशिफल | shukra ka rashi parivartan ka 12 rashiyo par kya prabhav hoga| वैदिक ज्योतिष के हिसाब से शुक्र 30 दिसम्बर 2021, गुरुवार को सुबह 9:37 मिनट पे धनु राशि में प्रवेश करेंगे, धनु राशि का शुक्र शुभ का होता है परन्तु सूर्य के साथ आने से ये अस्त हो जाएगा जिसके कारण जातको को मिला जुला असर दिखेगा जीवन में | शुक्र ग्रह का सम्बन्ध विलासिता, ऐशो आराम, प्रेम, भौतिक सुख सुविधा, वीर्य शक्ति, सुन्दरता आदि से है | इसी कारण शुक्र का राशि परिवरतन बहुत ही मायने रखता है | ज्योतिष प्रेमियों की निगाह शुक्र की चाल पे हमेशा बनी रहती है |  shukra ka dhanu rashi me gochar ka rashifal 30 दिसम्बर 2021 को जब शुक्र राशि परिवर्तन करके धनु राशि में आयेंगे तो यहाँ पे सूर्य के साथ युति होगी, वैसे तो शुक्र धनु राशि में शुभ के होते हैं परन्तु सूर्य के साथ युति होने से ये अस्त हो जायेंगे और ये कमजोर हो जायेंगे अतः इसका बहुत असर लोगो के जीवन में देखने को मिलेगा | Read in english about when venus will transit in sagittari

Best morning mantra as per hinduism

Morning mantra in hinduism, Which mantra is good to recite just after waking up?, Powerful Lakshmi Mantra For Money, Protection and Happiness, karagre vasate laxmi lyrics.   If anyone is suffering from bad luck for long time and nothing is working then start from the morning. Do recite the Karagre vasti laxmi Mantra with full of positivity and within some days, you will find changes in your life.  Best morning mantra as per hinduism || Karagre vasate laxmi,  Karmadhye saraswati, Karmule tu govinda Prabhat kar darshanam. || पढ़िए हिंदी में सुबह उठके कौन से मन्त्र का जप दूर करता है सभी परेशनिओ को   Meaning of this morning mantra: As per our epics, goddess of money and prosperity i.e. laxmiji resides on the tips of our fingers and so do see her whenever you getup. Goddess of knowledge i.e. saraswati resides in the middle of our hand so do see her And lord govinda resides  in the root of hand and so it is good to see our hand just after waking up in the morning. How to chant thi

om kleem krinaay namah mantr ke fayde

om kleem krishnaya namah mantra ke fayde, ॐ क्लीं कृष्णाय नमः मंत्र कब जपना चाहिए, जानिए कृष्ण वशीकरण मन्त्र के फायदे, किन नियमो का पालन करना चाहिए जप के समय |    अगर जीवन में बार बार असफलता मिल रही है, नौकरी में परेशानी आ रही है, प्रेम जीवन में असफल हो रहे हैं, समाज में मान –सम्मान नहीं मिल पा रहा है, घर में क्लेश रहता है तो ऐसे में कृष्ण वशीकरण मन्त्र का जप बहुत फायदेमंद होता है |  इस मन्त्र में माँ काली और कृष्ण, दोनों की शक्ति समाहित है इसीलिए जपकर्ता को बहुत फायदा होता है | om kleem krinaay namah mantr ke fayde धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने में समर्थ ये मन्त्र ॐ क्लीं कृष्णाय नमः अती उत्तम मंत्रो में से एक है | इस मन्त्र की सिद्धि से जपकर्ता अध्यात्मिक और भौतिक दोनों सुखो को प्राप्त कर सकता है |  श्री कृष्ण भगवान 64 कलाओं में निपुण थे और उनकी माया से सभी परिचित है अतः उनकी कृपा हो जाए तो क्या संभव नहीं हो सकता |  Read in english about om kleem krishnaay namah spell benefits   " ॐ क्लीं कृष्णाय नमः " एक चमत्कारिक मन्त्र है और जप करने वाले को जप के दौरान भी दिव्य अन

Bandhan Dosh solution in jyotish

Bandhan dosh ka samadhan kya hai, bandhan dosh kya hota hai, बंधन दोष प्रभाव और निवारण, बंधन दोष के प्रकार. बंधन दोष का समाधान बहुत जरुरी होता है वरन जातक विभिन्न प्रकार की समस्याओं से ग्रस्त रहता है और सफलता नहीं मिल पाती है |  बंधन प्रयोग के द्वारा शत्रु को कार्य करने से रोका जा सकता है जैसे चलता हुआ व्यापार बाँध दिया जा सकता है, स्त्री की कोख को बाँधा जा सकता है है, किसी के आय के स्त्रोत को बंधा जा सकता है, किसी को नपुंसक भी बनाया जा सकता है, किसी को शारीरिक और मानसिक रूप से अपंग भी बनाया जा सकता है |  Bandhan Dosh solution in jyotish बंधन दोष क्या होता है ? सरल भाषा में कहें तो नकारात्मक विचारधारा से ग्रस्त लोगो द्वारा तंत्र विद्या का गलत स्तेमाल करके किसी को कार्य करने से रोकने की विद्या है बंधन प्रयोग | जो लोग तंत्र जानते हैं, वे लोग अपने से जलने वालो के लिए या फिर शत्रु को कमजोर करने के लिए इस विद्या का प्रयोग करते हैं | बंधन दोष जिसके ऊपर होता है, वो और उसका परिवार पूरी तरह से बर्बाद हो सकता है |   आइये जानते हैं क्या क्या हो सकता है बंधन दोष के कारण ? अगर अचानक से बिमारी

black magic remedies

Black magic remedies , Kala Jadu Hone Par Bachne Ke Upaay in Jyotish, Kaun sa yantra bachayega kala jadu se, kaun se totkay bachayenge kala jadu se, symptoms of black magic.  What is black magic ? Black magic is the misuse of occult science. By using this method, the enemy makes the circumstances negative due to which the native starts getting failure, suffers from chronic health issues, getting scared all the time, troubles surround the person from all sides etc.  black magic remedies Black magic remedies : Is black magic spoiling your life, is your personal life plagued by witchcraft, or tantra obstruction?, does you remain ill due to someone's doing something, is your business closed by magic then this The article will help you. यहाँ आप जानेंगे की काला जादू होने पर कैसे उससे बचा जाए. कैसे बहार आयें तंत्र बाधा, मंत्र बाधा से. कैसे तोड़े काले जादू के असर को. Those who progress very fast makes rivals fast due to which danger also increases in life because rivals may us

Budh ka dhanu rashi mai gochar ka rashifal

 Budh ka dhanu rashi mai pravesh 10 dec 2021 rashifal, बुध कब धनु में प्रवेश करेंगे, जानिए राशिफल | वैदिक ज्योतिष में बुध ग्रह का बहुत अधिक महत्त्व है, इसे ग्रहों में राजकुमार कहा जाता है, इसका सम्बन्ध खुशमिजाजी, बुद्धिमता, बोलने की कला, लिखने की योग्यता, व्यापार, कूटनीति आदि से होता है | 10 दिसम्बर,2021, शुक्रवार को सुबह 5:53 बजे बुध वृश्चिक राशि से निकल के धनु राशि में प्रवेश करेंगे जो की बुध की सम राशि है | परन्तु इस गोचर का लाभ कुछ लोगो को बहुत अच्छा मिलेगा | Budh ka dhanu rashi mai gochar ka rashifal आइये जानते हैं क्या असर होगा बुध के धनु राशी में गोचर का : मेष राशिफल: 10 दिसम्बर,2021, शुक्रवार को बुध के धनु राशी में गोचर से मेष राशी वालो को भाग्य का साथ मिलेगा जिससे रुके काम पूरे होंगे, यश की प्राप्ति होगी, पिता के आशीर्वाद से कोई बड़ा काम हो सकता है | जो लोग किसी प्रकार की साधना करते हैं, वे लोग अपनी साधना में आगे बढ़ पायेंगे | जो लोग गुरु की तलाश में है, उन्हें प्राप्त होने के योग मजबूत होंगे | मेष राशी के प्रेमियों को कुछ उलझनों का सामना करना पड़ सकता है | वृषभ